Indian Bank के जोनल चीफ मैनेजर को पुलिस ने किया गिरफ्तार, महिला के साथ मिलकर किया था ऐसा काम

Indian Bank के जोनल चीफ मैनेजर को पुलिस ने किया गिरफ्तार, महिला के साथ मिलकर किया था ऐसा काम

Vinod Singh Chouhan | Publish: Mar, 17 2019 03:44:30 PM (IST) | Updated: Mar, 17 2019 03:44:31 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

दलाल के साथ मिलीभगत कर लाखों रुपयों का फर्जी ऋण देने वाले जोनल चीफ मैनेजर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

सीकर.

दलाल के साथ मिलीभगत कर लाखों रुपयों का फर्जी ऋण देने वाले जोनल चीफ मैनेजर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जो वर्तमान में इंडियन बैंक अहमदाबाद में जोनल चीफ के पद पर पदस्थापित है। पुलिस को इनकी महिला साथी की तलाश है। जिसको दोनों ऋण के लिए बैंक कर्मचारियों के सामने फर्जी तरीके से पेश करते थे। फिलहाल दोनों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की जा रही है। ताकि ठगी की बड़ी वारदातों का खुलासा हो सके। कोतवाली पुलिस के अनुसार धोखाधड़ी कर लाखों रुपए बैंकों से ऋण के उठाने वाले दलाल ओमप्रकाश को दबोचने के बाद पता लगा कि 40 लाख रुपए के खेल में इंडियन बैंक का एक बड़ा अधिकारी भी शामिल है। इस पर दबिश देकर बैंक के जोनल चीफ मैनेजर रमेश कोंडल को अहमदाबाद से गिरफ्तार किया है। जिनको न्यायालय ने 18 मार्च तक पुलिस रिमांड पर सौंपा है। जांच में सामने आया है कि दोनों ने मिलकर दादिया निवासी किरण देवी की जमीन के दस्तावेज जयपुर स्थित बैंक में लगाकर 40 लाख का ऋण उठा लिया था। इसके बाद जब ऋण की रीकवरी के लिए बैंक के कर्मचारी किरण देवी के घर पहुंचे तो खुलासा हुआ कि परिवादिया की जमीन के दस्तावेजों के आधार पर लाखों का ऋण उठा लिया गया है। जबकि ऋण के लिए किरण देवी तो बैंक में कभी पहुंची ही नहीं। जांच की गई तो पता लगा कि ओमप्रकाश ने इंडियन बैंक के अधिकारी रमेश कोंडल से मिलीभगत कर ऋण उठाने के लिए बैंक में किसी फर्जी महिला को किरण देवी की जगह पेश कर दिया था। इसके बाद पीडि़ता किरण देवी ने ओमप्रकाश के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया तो गिरफ्तारी के बाद दलाल और बैंक अधिकारी की मिलीभगत सामने आ सकी।


कइयों को दिया धोखा
दूसरों के नाम पर फर्जी ऋण उठाने वाले दलाल ओमप्रकाश को कई बैंक जालसाज घोषित कर चुके हैं। इसके साथ ऋण देने वाले अधिकारी रमेश कोंडल व जयपुर इंडियन बैंक के पूर्व मैनेजर मुकेश के खिलाफ भी जयपुर बजाज नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज है। ओमप्रकाश इतना तेजतर्रार है कि फर्जी ऋण उठाने के बाद यह अपना पता बदल लेता है। पुलिस का कहना है कि इसने सीकर में कइयों के साथ धोखाधड़ी की है।


महिला को बनाया मोहरा
फर्जी ऋण उठाने के लिए आरोपी ओमप्रकाश ने बैंक कार्मिकों को चकमा देने खातिर अपनी एक महिला साथी को मोहरा बना रखा है। शातिर ठग ने इस महिला को भी धोखाधड़ी कर 65 लाख का ऋण दिला रखा है। पुलिस इस महिला साथी की तलाश में भी जुटी हुई है।


जोनल चीफ मैनेजर रमेश कोंडल व दलाल ओमप्रकाश को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। ओमप्रकाश ने धोखाधड़ी की कई वारदातें कबूली है। जबकि रमेश कोंडल का सर्विस रेकार्ड खंगाला जा रहा है। पुलिस को इनसे ठगी की और भी वारदातें खुलने का अंदेशा है। -अमित कुमार नागौरा, जांच अधिकारी व एसआई कोतवाली थाना पुलिस

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned