पुलिस पब्लिक संवाद: महिलाओं की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता

-नीमकाथाना की जनता का पुलिस से तीसरे दिन भी संवाद
-पुलिस और पब्लिक संवाद कार्यक्रम, महिलाओं ने अधिकारियों के सामने रखे मुद्दे

By: Ashish Joshi

Updated: 13 Apr 2021, 12:14 PM IST

सीकर/नीमकाथाना. महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस अब एक वाट्सऐप गु्रप बनाएगी। जिसमे थाना की एक महिला कांस्टेबल व क्षेत्र की महिलाएं व स्कूल, कॉलेज की छात्राओं को जोड़ा जाएगा। कोतवाल राजेश डूडी ने बताया कि ग्रुप में कोई भी अपनी शिकायत दर्ज करवा सकेगा, जिसको पुलिस पूरी तरह से गोपनीय रखेगी। इसके अलावा महिलाएं अपनी शिकायत दर्ज करवाने के लिए भयमुक्त होकर थाना में भी आकर महिला सिपाही के सामने अपनी बात रख सकती है। गु्रप में आने वाली प्रत्येक शिकायत को पुलिस अमल में लाकर पीडि़ता को न्याय दिलाने में पूरी कोशिश करेगी। यह बात राजस्थान पत्रिका की ओर से चलाए जा रहे भय नहीं भरोसा अभियान के तहत औद्योगिक क्षेत्र स्थित अरावली शिक्षण संस्थान व वरदा स्मार्ट स्कूल में आयोजित पुलिस पब्लिक संवाद कार्यक्रम के तीसरे दिन सोमवार को नारी शक्ति संवाद में सामने आई। इस दौरान महिलाओं व छात्राओं ने शहर की सुरक्षा व महिलाओं संबधित सुरक्षा पर आधारित सवाल किए। कोतवाल राजेश डूडी ने उनको महिलाओं के उचित कानूनी अधिकारों के बारे में बताया। उन्होने कहा कि पुलिस भी समाज का एक अंग है। महिलाओं को अन्याय सहन करने के बजाए अन्याय के खिलाफ लडऩे के लिए आगे आना होगा। कार्यक्रम में निदेशक सुरेश रोहिलान, कल्याण प्रसाद मीणा, निदेशक राजेश कटारिया, सीमा यादव, प्रमोद कंवर, रजनी चौहान, आशा योगी, दीक्षा पंजाबी, आरपी जेफ, पूनम सोनी सहित अनेक छात्राएं व महिलाएं उपस्थित थी।
-----------------------
सवाल: महिलाओं के साथ अत्याचार के मामले ज्यादा आ रहे है।
जवाब: थाना में पुलिस द्वारा पीडि़त महिलाओं की हर बात को ध्यान से सुनकर प्राथमिकता दी जाती है। अगर किसी महिला के साथ ऐसा होने पर उसको तुरंत १०० नंबर पर या संबधित पुलिस स्टेशन पर पहुंचकर पूरी जानकारी देनी चाहिए।
सवाल: कॉलेज व स्कूल में पढऩे वाली छात्राओं की सुरक्षा को लेकर क्या
जवाब: स्कूल व कॉलेज में एक-एक महिला कमेटी बनाई जाएगी। जिसमे प्रत्येक क्लास से एक, दो छात्राओं को शामिल किया जाएगा। तथा उसकी समय समय पर महिला कांस्टेबल द्वारा मीटिंग की जाकर छात्राओं की समस्याओं पर चर्चा की जाएगी।
सवाल: रास्ते में युवतियों का बदमाश पीछा करते रहते है
जवाब: अगर किसी युवती व छात्रा के साथ ऐसा होता है तो उसको तुरंत अपने परिजनों व शिक्षकों को पूरी जानकारी देनी चाहिए। इससे पुलिस आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करें। ऐसे कई मामले सामने आने पर कई बदमाश सलाखों के पीछे भी पहुंचे है।
सवाल: बस स्टैंड पर सादावर्दी में पुलिस जवान तैनात किए जाए
सवाल: पुलिस की एक टीम सादावर्दी में दिनभर बाजार में गश्त करती रहती है। जिनमे एक महिला कांस्टेबल भी शामिल है, जो कॉलेज व स्कूलों के बाहर व रास्ते में चलती युवतियों के साथ मनचलों द्वारा करने वाली हरकतों पर ध्यान रख कर समय-समय पर उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है।

Ashish Joshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned