बलात्कार के अश्लील वीडियो बनाकर वायरल की धमकी देकर गैर मर्दो के साथ संबंध का बनाते थे दबाव, गिरफ्तार

बलात्कार के अश्लील वीडियो बनाकर वायरल की धमकी देकर गैर मर्दो के साथ संबंध का बनाते थे दबाव, गिरफ्तार
sikar

Bhagwan Sahai Yadav | Publish: Sep, 15 2019 05:56:45 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

बलात्कार के अश्लील वीडियों बनाकर वायरल की धमकी देकर लोगों से रुपए वसूलने के दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों हनी ट्रेप में फंसा कर धमकी देते थे।

सीकर/दांतारामगढ़. बलात्कार के अश्लील वीडियों बनाकर वायरल की धमकी देकर लोगों से रुपए वसूलने के दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों हनी ट्रेप में फंसा कर धमकी देते थे। धमकी देकर लोगों से पांच लाख रुपए ले लिए थे। पुलिस ने मोबाइल फोन जब्त कर लिया है। मोबाइल में पुलिस को ऑडियों व वीडियों क्लिप भी मिली है। पुलिस अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है। रींगस डीएसपी बलराम सिंह ने बताया कि भंवर सिंह पुत्र बंशी लाल बुडी निवासी ढाणी बिसावाली तन जैतूसर रींगस व सुशीला देवी पत्नी घनश्याम पूनियां निवासी बस्सी तन पुजारी का बास श्रीमाधोपुर हाल आबाद गांव बस स्टैंड के पास रींगस को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि रींगस थाने में पीडि़ता ने मुकदमा दर्ज कराया था कि उसने बताया कि खाटूमोड रींगस पर कनिष्का ब्यूटी पार्लर के नाम से काकेर ससुर की पुत्रवधू सुशीला देवी ने कर रखी है। वह दुकान पर कभी-कभी आती थी। सुशीला देवी ने उसका परिचय भॅवरलाल बुडी से करवाया। दोनों ने उसका परिचय कैलाश बुडी निवासी रीगस से भी करवाया। दोनों ने उसे कैलाश बुडी से रोजाना मोबाइल पर बात करने के लिए कहां। उसने बताया कि वह एक महीने पहले दवाई लेने रींगस गई। तब सुशीला देवी ने फोन कर कनिष्का ब्यूटी पार्लर कर बुलाया। वह ब्यूटी पॉर्लर में गई तो भॅवरलाल बुडी भी था। वह गाडी में बैठाकर सुशीला के साथ खाटुश्यामजी ले गया।
वहां पर उसने चाय पिलाई। कुछ देर के बाद उसे होश नहीं रहा। सुशीला व भॅवरलाल बुडी ने अश्?लील वीडियों बना लिए। दो घंटे के बाद उन्होंने वापस रींगस छोड दिया। बाद में दोनों दबाव बनाने लगे। उन्होंने कहा कि जैसा हम कहेंगे वैसा तुझे करना पडेगा। तेरी अश्लील वीडियों व ऑडियों को सोशल मीडिया पर वायरल कर देगें। 20 दिनों बाद सुशीला ने मुझे ब्यूटी पार्लर पर बुलाया। सुशीला के पिता गिरधारीलाल गढवाल ने कपडे देकर खाटुश्यामजी चलने को कह। वे कुछ लोगों के साथ ले गए। वहां पर पांच लाख रुपए ले लिए और खाली स्टांप पर गलत नाम से हस्ताक्षर करवा लिए।

जांच में कई चौंकाने वाले बातें सामने आई

पीडि़ता की रिपोर्ट पर पुलिस ने जांच शुरू की तो कई चौंकाने वाली बातें सामने आई। जाल बिछा कर आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए दांतारामगढ़ थानाधिकारी लाल सिंह, हैड कांस्टेबल बिहारी लाल, कांस्टेबल मदनलाल, रामसिंह, सुनिल कुमार, राजेन्द्र कुमार, संतोष को जांच में लगाया गया। पुलिस टीम ने जांच के दौरान पीडि़ता व गवाहों के बयान लिए। होटलों का निरीक्षण किया। आसपड़ोस के लोगों से पूछताछ की। सायबर टीम से भी मदद ली। पीडि़ता के मोबाइल व वायरल वीडियों की जांच की। उन्हें जब्त कर जांच की गई।

संबंध बनाने के लिए दबाव बनाने लगे

सुशीला, भ्ॉवर लाल बुडी व गिरधारीलाल गढवाल ने पीडि़ता मानसिक दवाब बनाकर लोगों के साथ संबध बनाने को कहा। वह मना करने लगी तो धमकी दी कि तेरे अश्लील वीडियों वायरल कर देंगे। उन्होंने बताया कि हम तेरे अश्लील वीडियों बनाकर ५ लाख रुपए ले चुके है। वे लोगों के साथ संबध बनाने के लिए कहते और अश्लील वीडियों बनाकर उन्हें ब्लेकमेल करते। लोगों से रुपए हड़प करने के लिए दबाव बनाते थे। एेसा करने से पीडि़ता ने मना किया तो उन्होंने अश्लील वीडियो व ऑडियो वायरल
कर दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned