बड़ी खबर: राजस्थान में शिक्षकों के तबादले 17 से, यूं कर सकते हैं आवेदन

राजस्थान के शिक्षकों की बहु प्रतीक्षित तबादला प्रक्रिया 17 सितंबर से शुरू होगी। इस दिन से शिक्षक तबादलों के लिए अपने आवेदन शिक्षा विभाग को पेश कर सकेंगे।

By: Sachin

Published: 16 Sep 2020, 06:19 PM IST

सीकर. राजस्थान के शिक्षकों की बहु प्रतीक्षित तबादला प्रक्रिया 17 सितंबर से शुरू होगी। इस दिन से शिक्षक तबादलों के लिए अपने आवेदन शिक्षा विभाग को पेश कर सकेंगे। जिन पर विचार कर विभाग शिक्षकों को नई जगह नियुक्ति देगा। तबादलों के आवेदन सिर्फ ऑनलाइन ही लिए जाएंगे। जिसके लिए शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने टाइम फ्रेम भी जारी कर दिया है। जिसे शिक्षा राज्य मंंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने भी अपने ट्विटर पर पोस्ट किया है। शिक्षा विभाग ने फिलहाल केवल प्रधानाचार्य, प्रधानाध्यापक, व्याख्याता व द्वितीय श्रेणी शिक्षकों से ही आवेदन मांगे हैं। तृतीय श्रेणी शिक्षक व अन्य स्टाफ की आवेदन प्रक्रिया का इंतजार अब भी बाकी है।

यूं कर सकते हैं आवेदन
शिक्षा विभाग के अनुसार तबादलों के आवेदन सिर्फ ऑनलाइन ही किए जा सकेंगे। किसी भी सूरत में किसी भी स्तर पर ऑफलाइन आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। विभाग के निर्देशों के अनुसार शिक्षकों को आवेदन के लिए शाला दर्पण पोर्टल पर आवेदन करना होगा। जिसमें स्टाफ लॉग इन पर जाकर यह आवेदन किया जा सकेगा।

इन तिथियों पर होंगे आवेदन
शिक्षा विभाग के टाइम फ्रेम के अनुसार शिक्षक 17 सितंबर से 9 अक्टूबर तक पदवार आवेदन कर सकेंगे। जिसमें प्रधानाचार्य व प्रधानाध्यापक के तबादलों के लिए आवेदन 17 सितंबर को दोपहर 12 बजे से 21 सितंबर रात 12 बजे तक किया जा सकेगा। इसके अगले दिन यानी 22 सितंबर को सुबह 10 बजे से लेकर 25 सितंबर रात 12 बजे तक प्रथम श्रेणी शिक्षक यानी व्याख्याता तबादलों के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। इसके बाद सैकंड ग्रेड शिक्षकों की आवेदन प्रक्रिया 5 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे शुरू होगी। जो 9 अक्टूबर रात 12 बजे तक जारी रहेगी।

तृतीय श्रेणी शिक्षकों का इंतजार बाकी
तबादलों की आवेदन प्रक्रिया में तृतीय श्रेणी शिक्षकों को शामिल नहीं किया गया है। ऐसे में इन शिक्षकों का इंतजार ओर बढ़ गया है। विभाग का तर्क है कि तृतीय श्रेणी शिक्षकों की संख्या ज्यादा होने पर इनकी प्रक्रिया अलग से बाद में शुरू की जाएगी।

माकन के सामने उठा था मुद्दा
बतादें कि प्रदेश में पायलट प्रकरण में गर्माये सियासी मुद्दे के बाद प्रदेश के नए कांग्रेस प्रभारी अजय माकन ने जब जिलों से फीडबैक लिया तो सबसे ज्यादा मांग तबादलों की ही सामने आई थी। इसके अलावा कार्यकर्ताओं ने बिजली के बिलों की राशि बढ़ोत्तरी का मुद्दा भी उठाया था। जिसके बाद खुद अजय माकन ने इन दोनों मुद्दों पर प्राथमिकता से काम करने की बात कही थी। उसी का परिणाम अब तबादला प्रक्रिया शुरू होने के रूप में दिख रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned