डीडी से बोले कलक्टर, एक चार्जशीट मिल चुकी है दूसरी मिली तो रिटायरमेंट तक परेशानी आएगी

सीकर .जिलास्तरीय अधिकारियों की लगातार लापरवाही पर सोमवार को जिला कलक्टर अविचल चतुर्वेदी के तेवर थोड़े बदल गए।

By: Sachin

Published: 07 Sep 2021, 11:02 AM IST

सीकर .जिलास्तरीय अधिकारियों की लगातार लापरवाही पर सोमवार को जिला कलक्टर अविचल चतुर्वेदी के तेवर थोड़े बदल गए। उन्होंने कई अधिकारियों की जमकर क्लास ली। बैठक की शुरूआत में सार्वजनिक निर्माण विभाग का मुद्दा आने पर पता लगा कि अधीक्षण अभियंता सायरमल मीणा बिना बताए खंडेला पहुंच गए। इस पर कलक्टर ने कहा कि जब पता था बैठक होगी तो फिर किससे पूछकर गए। कलक्टर ने 17 सीसीए के नोटिस जारी करने के फरमान जारी कर दिए। कलक्टर ने कहा कि मुझे सब पता है कौन क्या करता है...। इसके बाद कलक्टर ने महिला एवं बाल विकास विभाग की डीडी सुमन पारीक की क्लास ली। कलक्टर ने डीडी से पहले आंगनबाड़ी केन्द्रों की संख्या, भवन विहिन केन्द्रों की संख्या पूछी तो वह स्पष्ट जवाब नहीं दे सकी। इस पर कलक्टर ने कहा कि एक-एक सीडीपीओ से पूछने हम थोड़ी जाएंगे...आपको तैयारी करके आना चाहिए था। कलक्टर ने कुपोषित बच्चों की संख्या व उनकी पहचान को लेकर सवाल किया। इस पर डीडी पारीक बोली कि फीते से नाप करते है....। कलक्टर चतुर्वेदी ने कहा कि आप जिलास्तरीय अधिकारी हो...। कुछ अन्य अधिकारियों ने भी सफाई देने की कोशिश की लेकिन वह भी सही नहीं बता सके। कलक्टर ने डीडी से कहा कि आपको एक चार्जशीट तो पहले ही मिल चुकी है दूसरी और मिल जाएगी तो रिटायरमेंट में परेशानी आ जाएगी। इससे पहले भी दो बैठकों में गोलमाल जवाब देने पर कलक्टर की फटकार डीडी को मिल चुकी है। बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश कुमार, एडीएम धारासिंह मीणा, सहायक कलक्टर गुंजन, रसद अधिकारी राजपाल यादव, मुख्य आयोजना अधिकारी नरेन्द्र भास्कर, आयुक्त श्रवण कुमार विश्नोई, अधीक्षण अभियन्ता जलदाय चुन्नीलाल, विद्युत नरेन्द्र गढ़वाल , सहायक श्रम आयुक्त राकेश खर्रा, उप वन संरक्षक भींमाराम चौधरी आदि मौजूद रहे।

शिविरों में हो कोविड गाइडलाइन की पालना
दो अक्टूबर से आयोजित होने वाले प्रशासन शहरों एवं गांवों के संग अभियान को लेकर भी कलक्टर ने चर्चा की। कलक्टर ने कहा कि इन अभियानों को औपचारिकता में नहीं लें। इनकी गंभीरता को समझकर अभी से जुटना होगा। उन्होंने शिविर में कोविड गाइडलाइन की पालना कराने के भी निर्देश दिए है। उन्होंने नगर परिषद आयुक्त,नगर विकास न्यास, नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारियों को नगरीय निकाय क्षेत्रों में स्थित सिवायक भूमि को नगरीय निकायों को हस्तांतरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने पीडब्ल्यूडी के अधीशाषी अभियन्ता को प्रशासन गांवों के संग अभियान में दो गांवों को जोडऩे वाली सड़कों का प्रस्ताव बनाने तथा सड़क के दोनों तरफ कंटीली झाडिय़ों के कटान का कार्य भी करने के निर्देश दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned