राहत: जिले के 10 लाख ग्राहकों को मिलेगा लघु बचत योजनाओं पर पूरा ब्याज

अल्प बचत खाता धारकों को सितम्बर माह तक पहले की तरह ही ब्याज मिलता रहेगा।

By: Puran

Published: 18 Jul 2021, 06:46 PM IST

सीकर। कोरोना काल में लघु बचत योजना में निवेश करने वाले लोगों के लिए राहत की खबर है कि केन्द्र की लघु बचत योजना की किसी भी स्कीम की ब्याज दरों में कटौती नहीं की गई है। ब्याज दर में कटौती नहीं होने से जिले में अल्प बचत खाता धारकों को सितम्बर माह तक पहले की तरह ही ब्याज मिलता रहेगा। बैकिंग सेक्टर के अनुसार जिले में लघु बचत योजनाओं से सीधे तौर पर करीब दस लाख लोग जुडे हुए हैं। गौरतलब है कि यह ब्याज दर जुलाई माह से ही प्रभावी है।

ये है स्कीम और ब्याज प्रतिशत में

स्कीम- ब्याज पब्लिक प्रोविडेंट फंड - 7.10 सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम - 7.40 प्रतिशत किसान विकास पत्र- 6.9 प्रतिशत सुकन्या समृद्धि स्कीम - 7.6 प्रतिशत नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट - 6.8 प्रतिशत पोस्ट ऑफिस टाइम डिपोजिट - 5.5-6.7 प्रतिशत-----योजना..... समय सीमा.... न्यूनतम राशि रूपए में पीपीएफ...... 15 साल.... 500 सीनियर सिटीजन स्कीम... 5 साल.... 1000 किसान विकास पत्र...... 9 साल 4 महीने..... 1000 सुकन्या समृद्धि खाते..... 21 वर्ष की आयु मे.... 250 नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट...... 5 साल या 10 साल...... 100

एक्सपर्ट व्यू

कोरोना के संकट काल को देखते हुए बैंक तथा डाक विभाग की विभिन्न बचत योजनाओं में ग्राहकों को मिलने वाले जमा पूंजी ब्याज की दरों को यथावत रखा गया है। फिलहाल सितम्बर माह तक पुरानी ब्याज दरों के आधार पर ही जमा करता को लाभ दिया जाएगा। इन योजनाओं मे निवेश करने पर ग्राहकों को नियमानुसार टैक्स मे भी रियायत मिलती है

सुधेश पूनिया, कृषि प्रबंधक

Puran Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned