केन्द्र सरकार की टीम सीकर पहुंची तो अधिकारियों ने किया ये कारनामा

केन्द्र सरकार की टीम सीकर पहुंची तो अधिकारियों ने किया ये कारनामा

Vinod Singh Chouhan | Publish: May, 16 2019 06:23:05 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

साहब को दिखाने के लिए चमका दिया जनाना अस्पताल


सीकर.

आम दिनों में सफाई संबंधी अव्यवस्थाओं से जूझ रहे सरकारी जनाना अस्पताल बुधवार को चकाचक नजर आया। कारण लक्ष्य कार्यक्रम के तहत मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य केंद्र ‘एमसीएच विंग’ का निरीक्षण करने के लिए केन्द्र सरकार की टीम का निरीक्षण करना रहा। प्रस्तावित निरीक्षण की सूचना को देखते हुए चिकित्सा विभाग ने पूरे अस्पताल परिसर के कोने-कोने का साफ करवाया।
अस्पताल में दुर्गन्ध नहीं आए इसके लिए अतिरिक्त सफाई कर्मी लगाए। पूरा स्टॉफ ड्रेस कोड में नजर आया। हर वार्ड में बैड पर साफ-सुथरी चादर थी। दवा काउंटर, पूछताछ केन्द्र पर दवाओं की आपूर्ति व्यवस्था सही रही। इस कारण पहले दिन टीम ने लेबर रूम, एसएनसीयू और आेटी का निरीक्षण किया लेकिन किसी प्रकार की अव्यवस्था नजर नहीं मिली।
गौरतलब है कि लक्ष्य कार्यक्रम के निरीक्षण में खरा उतरने पर जनाना अस्पताल को प्रमाण पत्र मिलेगा। गौरतलब है कि जनाना अस्पताल को प्रदेश स्तर पर प्रमाण पत्र मिल चुका है। निरीक्षण टीम में सूरत के मेडिकल कॉलेज से डॉ. पीयूष टेलर, गुडगांव से डॉ. सुनीता पालीवाल, चिकित्सा विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर डॉ. रफीक, आरसीएचओ डॉ. निर्मल सिंह, पीएमओ डॉ अशोक चौधरी, डॉ. बीएल राड आदि मौजूद रहे।
आज भी होगा निरीक्षण
जनाना अस्पताल में लक्ष्य कार्यक्रम के तहत निरीक्षण गुरुवार को भी होगा। निरीक्षण के बाद रिपोर्ट तैयार की जाएगी। इस रिपोर्ट को दिल्ली में स्वास्थ्य मंत्रालय को सौंपा जाएगा।
निरीक्षण के बाद स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से लक्ष्य कार्यक्रम के तहत अस्पताल को प्रमाण पत्र दिया जाएगा। इसके जरिए अस्पताल के लेबर रूम की व्यवस्थाओं और ऑपरेशन थियेटर के लिए हर साल तीन लाख रुपए की राशि मिलेगी।
इस राशि में से 75 प्रतिशत राशि संस्थान में मातृ एवं शिशु सुरक्षा संबंधी सेवाएं व सुविधाओं को बढाने में खर्च होगी और 25 प्रतिशत राशि चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों को प्रोत्साहन के रूप में दी जाएगी। गौरतलब है कि जनाना अस्पताल में हर माह सात सौ से ज्यादा प्रसव होते हैं और चार जिलों के मरीज
यहां आते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned