चोर आए, आराम से नाश्ता किया और दे डाली ये वारदात अंजाम

पूर्व उप जिला प्रमुख काबरा के घर से 15 लाख के जेवर व 80 हजार रुपए चोरी

By: Vinod Chauhan

Published: 25 Aug 2019, 05:05 PM IST

सीकर.

शहर की इंद्रा कालोनी में एक बार फिर चोरों ने सूने मकान में चोरी की वारदात को अंजाम दिया। यहां वारदात करने के दौरान चोरों ने आराम से नाश्ता भी किया और घर में रखे जेवरात व नकदी पर हाथ साफ कर दिया। पूर्व उपजिला प्रमुख संतोष काबरा के घर हुई वारदात में चोरों ने 15 लाख रुपए के जेवर व 80 हजार रुपए चुरा लिए। पूर्व उप जिला प्रमुख परिवार सहित गांव गए गए थे पीछे से चोरों ने घर सूना देखर रात के समय में वारदात को अंजाम दिया। शाम को पूरा परिवार गांव से लौट कर आया तो चोरी की वारदात का पता लगा। चोरी की सूचना पर डीएसपी सौरभ तिवाड़ी, थानाधिकारी वीरेंद्र कुमार शर्मा, एसआई सुनील जागिड सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। मौके पर डॉग स्कॉयड व एमओबी की टीम को भी बुलाया गया।
पूर्व उपजिला प्रमुख संतोष काबरा ने बताया कि वे अपने गांव धोद में रहते हैं। जन्माष्टमी के कारण शुक्रवार दोपहर को पत्नी मैना देवी, बेटा गणेश काबरा, बहू निशा व दोनों बच्चे घर को ताला लगा कर गांव आ गए थे। वे सभी शनिवार शाम को करीब पांच बजे सीकर पहुंचे। घर के बाहर लगे ताले को खोलकर अंदर गए तो देखा कि बिजली चालू थी। कमरे का ताला टूटा मिला। अलमारी टूटी पड़ी थी। मंदिर का सामान बिखरा पड़ा था। कमरे में सारा सामान बिखरा हुआ फर्श पर पड़ा हुआ था। तब वे तीनों कमरों में गए तो उनमें भी सामान बिखरा हुआ पड़ा मिला। छत के ऊपर बने कमरे में गए तो उसका भी ताला टूटा हुआ मिला। इसके बाद कमरे में रखी अलमारी भी खुली मिली। चोरी की घटना को देखकर परिवार के लोग घबरा गए। तब उन्होंने पुलिस को सूचना दी। संतोष काबरा के पड़ोस में आगे व पीछे के मकान कई सालों से सूने ही पड़े हुए है।
एक दिन पहले शाम को चैक करने गया था
गणेश काबरा ने बताया कि घंटाघर के पास विजय प्रधान की फूलों की दुकान है। वह घर पर काम करने के लिए आता है। गांव जाने के बाद वे उसे देखभाल करने के लिए बोल कर गए थे। एक दिन पहले वह शाम 6 बजे घर को चैक करने के लिए आया था। वह बाहर से ही देखकर चला गया था। विजय ने बताया कि बाहर से सभी कुछ ठीक था। शनिवार शाम को भी परिवार से पहले विजय ही आया था। बाहर के दरवाजे में लगे ताले को खोलकर अंदर आकर देखा तो सारा सामान बिखरा पड़ा था। सभी कमरों की लाइटें चालू थी और पंखे भी खुले हुए थे। तब उसने गणेश को फोन कर चोरी की जानकारी दी थी। गणेश की माल में कपड़ों की दुकान है।
खाए काजू-बादाम
चोरों ने कमरे में से काजू-बादाम निकाल कर खाए। नाश्ता भी किया। बेड पर ही डिब्बे को खोल कर छोड़ गए। इसके अलावा अलमारी में रखी घड़ी, कैमरे, एटीएम कार्ड़, 5 रुपए नोटों की गड्डी व अन्य कीमती सामान बाहर निकाल कर छोड़ दिया। मंदिर में रखे सामान को भी चैक किया। गणेश काबरा ने बताया कि पापा-मम्मी की 30साल पहले शादी के गहने रखे हुए थे। 5 साल उसकी शादी हुई थी। सभी सोने व चांदी के गहने मां के कमरे में ही नीचे रखे हुए थे। चांदी के गिलास भी निकाल लिए। पापा के कमरे में रिवाल्वर रखी रहती है,लेकिन वह उसे साथ में ही ले गए थे। कमरे से उनकी चेन चुरा ली।

Vinod Chauhan Zonal Head
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned