वाट्सएप वायरल... हुकुमतों को सीधा-सीधा चैलेंज, सस्पेंड कर देना झेल लेंगे

चिकित्सक ने सोशल मीडिया पर किया कटाक्ष तो प्रबंधन ने दी कार्रवाई की चेतावनी

By: Suresh

Published: 04 Mar 2021, 05:47 PM IST

सीकर. शेखावाटी के सबसे बडे कल्याण अस्पताल में पिछले दिनो दो चिकित्सकों के बीच उपजे विवाद के मामले में बुधवार को फिर एक नया मोड़ आ गया। मामले में सरकारी जनाना अस्पताल के एक शिशु रोग विशेषज्ञ ने रात दस बजे कल्याण अस्पताल के चिकित्सकों के बने वाट्सएप ग्रुप में प्रबंधन और सरकार के खिलाफ कार्रवाई को लेकर कटाक्ष किया और जिसमे चिकित्सक ने कार्रवाई करने वालों पर कटाक्ष किया। जिसका स्क्रीन शॉट दिनभर चिकित्सकों के मोबाइल पर आया तो सेवारत चिकित्सकों ने बताया कि यह मामला पिछले दिनो आर्थोपेडिक विभाग में भर्ती मरीज के इलाज को लेकर दो चिकित्सकों के बीच हुए विवाद से जुड़ा हुआ। जिसकी दिनभर चिकित्सकों में चर्चा रही। प्रबंधन ने इस शिशु रोग अभद्र भाषा का प्रयोग किया और कल्याण अस्पताल के मामले में प्रबंधन की कार्रवाई पर कटाक्ष किया।
जताई नाराजगी
कल्याण अस्पताल में भर्ती मरीज के उपचार को लेकर आर्थोपेडिक विभाग के दो चिकित्सकों के बीच विवाद हो गया। विवाद बाद शिकायत मिलने पर सीकर मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने मामले की जांच के लिए पीएमओ को कमेटी बनाने के निर्देश दिए थे।
किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं होने को लेकर आर्थोपेडिक चिकित्सक के रिश्तेदार होने के नाते मंगलवार रात दस बजे शिशु रोग विशेषज्ञ नाराज हो गए। आरोप है कि ये पूर्व में भी कई विवादों में रह चुके हैं।
बाहर टेंट लगाकर बैठ जाऊंगा
जनाना अस्पताल में कार्यरत चिकित्सक ने एसकेएमसी परिवार नाम से बने वाट्सएप ग्रुप पर कहा हुनर चाहे किसी भी शख्स का हो कितने दिन दबेगा। हुकुमतों को सीधा-सीधा चैलेंज है सस्पेंड कर देना झेल लेंगे, एसके के बाहर टेंट लगाकर बैठ जाउंगा। लेकिन ब्लंडर किसी भी हालत में नहीं मारने दूंगा। मेरी आवाज उस पीडित डाक्टर की आवाज है जो किसी का जमीर जगा सकती है। इसके बाद कई चिकित्सको ने मामले में प्रशासन को संज्ञान लेते हुए मुद्दे को सुलझाने की पहल के लिए कहा।

Suresh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned