डबल मर्डर का खुलासा: सगा भाई निकला दिव्यांग युवक व उसकी मां का हत्यारा

जमीन में कम हिस्सा मिलने से था खफा व पत्नी के साथ अवैध संबंध का था शक.....

By: Amit Pandey

Published: 02 Mar 2021, 07:38 PM IST

सिंगरौली. मुढ़ी में हुए डबल मर्डर का माड़ा पुलिस ने खुलासा किया है। दिव्यांग युवक व उसकी मां का हत्यारा कोई और नहीं बल्कि सगे भाई ने हत्या किया है। जमीन जायदाद में कम हिस्सा मिलना और छोटे भाई का पत्नी के साथ अवैध संबंध के शक को लेकर आरोपी खफा था। यह दोनों बात आरोपी के जहन में कौंध रही थी। जिससे वह काफी दिनों से नाराज चल रहा था। इस बीच आरोपी ने अपने दिव्यांग भाई की हत्या करने को ठान लिया। जब उसने भाई को मौत के घाट उतारा तो बगल में सो रही मां की आंखें खुल गई। जिसे भी आरोपी ने गर्दन पर प्रहार कर मौत की नींद सुला दिया। माड़ा पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश करने के बाद उसे जेल भेज दिया है।

जानकारी के मुताबिक बीते गुरुवार की देर रात रामरक्षा बियार पिता बालकरण बियार व फुलऊ बियार पति बालकरण बियार एक ही कमरे में अलग-अलग बिस्तर पर सो रहे थे। इस दौरान आरोपी लालचन्द बियार पिता बालकरण बियार घर में घुसा और कुल्हाड़ी से हमला करते हुए छोटे भाई व मां की हत्या कर मौके से फरार हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर तलाश में जुटी थी। पुलिस ने बताया कि आरोपी तीन भाई थे। बड़े भाई ने छोटे भाई व मां के हत्या होने की सूचना पुलिस को दिया था। बीच के भाई ने दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया। मंगलवार को पुलिस टीम ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पूछताछ में कबूला जुर्म
हत्या के बाद पुलिस लगातार पतासाजी में जुटी थी। ग्रामीण व मुखबिरों से अज्ञात आरोपी की तलाश के लिए अथक प्रयास किया गया। संदेह के आधार पर आरोपी लालचंद्र बियार को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी। पुलिस की पूछताछ में आरोपी अपने बयानों में उलझ गया और कड़ाई से पूछताछ की गई तो आरोपी ने अपना जुर्म कबूल किया। हत्या की वजह उसने अपनी पत्नी का दिव्यांग भाई के साथ अवैध संबंध होने की शंका व जमीन जायदाद में कम हिस्सा मिलने की बात स्वीकार किया है।

एसपी ने लिया था संज्ञान
मुढ़ी में दोहरे हत्याकांड की वारदात को एसपी बीरेन्द्र सिंह ने संज्ञान में लिया था। घटना के बाद से लगातार एसपी ने एसडीओपी मोरवा राजीव पाठक सहित सीएसपी देवेश पाठक, माड़ा टीआई रावेन्द्र द्विवेदी, नवानगर टीआई यूपी सिंह, बरगवां टीआई नागेन्द्र सिंह सहित माड़ा थाना स्टाफ के साथ आरोपी का सुराग लगाने के लिए देर शाम तक मंथन करते रहे। आखिरकार एसपी की मेहनत रंग लाई और एसडीओपी राजीव पाठक सहित माड़ा, नवानगर व बरगवां के प्रभारियों ने मिलकर दोहरे हत्याकांड का पर्दाफाश किया।

पुलिस को करनी पड़ी मशक्कत
वारदात के बाद पुलिस को खूब मशक्कत करनी पड़ी है। आरोपी पुलिस की नजरों से ओझल हो गया था। घटना के बाद पुलिस डॉग स्क्वायड व एफएसएल की टीम को लेकर मौके पर पहुंची थी। पुलिस टीम कई दिनों तक आसपास के जंगलों में सर्चिंग करती रही। आखिरकार बाल से खाल निकालकर अपराधियों के तह तक पहुंचने वाली पुलिस ने यह साबित कर दिया कि अपराधी चाहे कहीं छुपे हों। मगर, पुलिस की नजरों से नहीं बच सकते हैं।

Amit Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned