भूमि व खनिज माफियाओं पर कार्रवाई करने फिर चलेगा अभियान

हर रोज देना होगा रिपोर्ट .....

By: Ajeet shukla

Updated: 27 Jul 2021, 12:00 AM IST

सिंगरौली. भूमि व खनिज माफियाओं पर कार्रवाई को लेकर फिर से अभियान चलाया जाएगा। करीब 4 महीने से ठप कार्रवाई को कलेक्टर ने फिर से अभियान शुरू करने का निर्देश दिया है। कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक के दौरान कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने यह आदेश मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद जारी किया। माफियाओं पर कार्रवाई को लेकर सोमवार को राजस्व व पुलिस विभाग की संयुक्त बैठक आयोजित की गई।

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर के अलावा पुलिस अधीक्षक बीरेंद कुमार सिंह भी उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाने में पुलिस का राजस्व विभाग के अधिकारियों को पूरा सहयोग मिलेगा। बैठक के प्रारंभ में कलेक्टर ने मुख्यमंत्री द्वारा पूर्व में की गई वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान दिए गए निर्देशों की जानकारी दी। साथ ही पालन प्रतिवेदन के संबंध में विभागवार जानकारी ली गई।

उन्होंने निर्देश दिया कि भू-माफिया, शराब माफिया व अवैध रूप से रेत का उत्खनन एवं परिवहन करने वालो के विरूद्ध कठोर कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि इस कार्य के रोकथाम के लिए पूर्व में ही टास्क फोर्स गठित की गई है। टास्क फोर्स द्वारा निरंतर कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिया कि शहरीय क्षेत्र में अवैध रूप से कालोनियों का निर्माण करने वालों के विरूद्ध अभियान चलाकर कार्यवाही करें। साथ ही अवैध कोलेनाईजरों के खिलाफ भी कार्यवाही करें।

कलेक्टर ने निर्देश दिया कि ऐसे माफिया जिनके द्वारा बड़े प्लाटों को छोटे-छोटे टुकड़ों में विभाजित कर उनकी रजिस्ट्री कराई जा रही है। उन पर कड़ी निगरानी रखें। यदि उनके द्वारा अवैध रूप से बड़े प्लाटों के टुकड़े कर उनकी बिक्री की जाती है तो उनके विरूद्ध कार्यवाही करें।कलेक्टर ने कहा कि भू माफियों से जो शासकीय भूमि अतिक्रमण से मुक्त कराई गई। उन्हें तत्काल शासन के अधिपत्य में लिया जाना संबंधित क्षेत्र के उपखंड अधिकारी सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि दोबारा शासकीय भूमियों पर अतिक्रमण न होने पाए उपखण्ड अधिकारी अपने क्षेत्र में निगरानी करें। यदि शासकीय भूमि में फिर अतिक्रमण किया गया तो संबंधित क्षेत्र के तहसीलदार राजस्व निरीक्षक, पटवारी के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने अवैध रूप से शराब बिक्री करने वालों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि चिटफंड कंपनियों के विरूद्ध कार्यवाही करें व जनता से जो पैसा कंपनियों द्वारा जमा कराया गया है उसे वापस भी कराएं।

कलेक्टर ने जिले में मातृ मृत्यु दर को रोकने के लिए संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के लिए अधिक से अधिक प्रचार प्रसार कराने के साथ ही नवीन प्रसव केंद्र खोले जाने के निर्देश दिया। उन्होंने जिले में अधिक से अधिक वृक्षारोपण किए जाने के लिए विभागवार लक्ष्य निर्धारित किया व शहरी क्षेत्र में गनियारी स्थित प्रधानमंत्री आवास के समीप खाली पड़ी भूमि में वृहद वृक्षारोपण कराने के उद्देश्य से जन प्रतिनिधियों सहित नागरिकों से वृक्षारोपण करने का आग्रह किया गया। उन्होंने कहा कि नवनिर्मित पीडीएस दुकानों सहित दूसरे शासकीय भवनों के चारों ओर वृक्षारोपण कराए।

कलेक्टर ने शासकीय योजनाओं व कार्यक्रमों के प्रभावी क्रियान्वन के संबंध में त्रैमासिक बैठक सांसद, विधायक व जनप्रतिनिधियों के अध्यक्षता में किए जाने का निर्देश दिया। बैठक के दौरान सीइओ जिला पंचायत साकेत मालवीय, प्रभारी वन मंडल अधिकारी रिषभा सिंह नेताम, अपर कलेक्टर डीपी बर्मन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनकर, एसडीएम ऋषि पवार, डिप्टी कलेक्टर विकास सिंह, निगमायुक्त आरपी सिंह, सीएसपी देवेश पाठक सहित थाना प्रभारी उपस्थित रहे।

कलेक्टर ने दिया यह भी निर्देश
- शत-प्रतिशत हितग्राहियों को उपलब्ध कराएं राशन।
- युवाओं को स्वरोजगार की मुख्यधारा से जोड़े।
- पेयजल योजनाओं के कार्य में तेजी लाया जाए।
- वनाधिकार के पट्टों के वितरण में तेजी लाई जाए।
- आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए शिविर आयोजित हो।
- मिलावटखोरी के विरूद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई करें।
- कोविड से मृतकों के मामले में अनुकंपा नियुक्ति की जाए।
- ऊर्जा डेस्क द्वारा महिला अपराध पर लगाम लगाई जाए।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned