दिग्विजय सिंह ने चुनाव आयोग की मंशा पर खड़े किए सवाल कहा, इवीएम से चुनाव कराने पर अड़ा हुआ है आयोग

दिग्विजय सिंह ने चुनाव आयोग की मंशा पर खड़े किए सवाल कहा, इवीएम से चुनाव कराने पर अड़ा हुआ है आयोग

Vedmani Dwivedi | Publish: Sep, 02 2018 03:34:33 PM (IST) | Updated: Sep, 02 2018 03:58:12 PM (IST) Singrauli, Madhya Pradesh, India

कहा कि 27 से ज्यादा राजनीतिक पार्टियों ने बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग कर चुकी हैं। इसके बावजूद चुनाव आयोग मतदान पेटी लूटपाट वजह बताकर इवीएम से चुनाव कराने पर अड़ा हुआ है।

सिंगरौली. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस समन्वय समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह ने चुनाव आयोग की मंशा पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि 27 से ज्यादा राजनीतिक पार्टियों ने बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग कर चुकी हैं। इसके बावजूद चुनाव आयोग मतदान पेटी लूटपाट वजह बताकर इवीएम से चुनाव कराने पर अड़ा हुआ है।

कहा कि, मतपेटी लूटने की घटनाएं रोकी जा सकती है। इवीएम से चुनाव कराना सही नहीं है। भारतीय जनता पार्टी के लोग इवीएम मशीन को हैक कर लेते हैं। उन्होंने कहा पिछले चुनावों में जहां भी इवीएम मशीनों में गड़बड़ी मिली है उन मशीनों में भाजपा को ही वोट जाता पाया गया। उन्होंने सवाल खड़ा किया आखिर ऐसा क्यों हो रहा है?

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह शनिवार रात सिंगरौली पहुंचे। रात में ही उन्होंने सरई में एक सभा को संबोधित किया। सोमवार दोपहर करीब 12 बजे सिंगरौली पैलेस में पत्रकारों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर कई आरोप लगाए।

उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर राफेल विमान सौदे में 1600 करोड़ का घोटाला करने का आरोप लगाया। नोटबंदी के दौरान गुजरात के अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक में सबसे ज्यादा रुपए जमा होने का आरोप लगाकर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को कटघरे में लिया। कहा कि नोटबंदी के दौरान सबसे ज्यादा रुपए अमित शाह के बैंक में जमा हुए।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ज्यादातर लोगों ने बैंक से नोट बदल लिए।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लोगों को कैंसर देकर उनकी जिंदगी बदल रहे हैं। आरोप लगाया कि भाजपा सरकार ने जो चप्पल एवं जूते दिए हैं उसकी वजह से लोगों में कैंसर फैल रहा है या कैंसर फैलने का खतरा ज्यादा है। दर्जन भर ऐसे आदिवासियों को लेकर पहुंचे थे जो यह बता रहे थे कि चप्पल एवं जूता पहनने के बाद उनके पैर में दिक्कत होने लगी।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned