आवंटित आवासों में लटक रहा ताला, केवल एक तिहाई ने जमाया डेरा

कोई गौर फरमाने की नहीं समझ रहा जरूरत .....

By: Ajeet shukla

Published: 29 Jun 2020, 10:45 PM IST

सिंगरौली. प्रधानमंत्री आवास योजना गनियारी में करीब 360 आवासों की आवंटन प्रक्रिया पूरी कर लोगों को रहने के लिए वर्ष 2020 की शुरुआत में ही चाबी दे दी गई, लेकिन अभी एक तिहाई हितग्राही भी वहां रहने को नहीं पहुंचे हैं। जबकि आवंटन के बाद आवास में रहना अनिवार्य है। गनियारी स्थिति आवास योजना के इस हाल पर नगर निगम अधिकारियों ने गौर फरमाने की जरूरत नहीं समझी है। जबकि उन्हें यह तय करना चाहिए कि हितग्राही वहां रहें, न कि केवल ताला बंद कर कब्जा जमाए रहें।

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हितग्राहियों को आवास उनकी आवासीय समस्या के चलते मुहैया कराया गया है, लेकिन नहीं लगता है कि आवास आवंटित कराने वाले हितग्राहियों को रहने की कोई समस्या है। क्योंकि हितग्राहियों को आवासीय समस्या होती तो आवंटन के महीनों बाद भी आवास में ताला नहीं लटकता। वर्तमान में रह रहे हितग्राहियों की माने तो अभी केवल एक तिहाई लोगों ने ही आवास में रहना शुरू किया है।

शुरू करनी चाहिए आवंटन निरस्त करने की प्रक्रिया
आवास की जरूरत नहीं समझने वालों यानी उन हितग्राहियों का आवंटन निरस्त करने की प्रक्रिया शुरू की जानी चाहिए, जो आवास में नहीं रह रहे हैं। इसके लिए नगर निगम को चाहिए कि वह हितग्राहियों को आवास में रहने का निर्देश दें। इसके बावजूद हितग्राही आवास में नहीं रहता है तो आवंटन निरस्त कर दूसरे हितग्राही को आवास आवंटित किया जाए।

जिम्मेदार अधिकारियों की नहीं टूट रही है नींद
आवास योजना गनियारी की स्थिति ठीक नहीं है। इसके बावजूद नगर निगम के अधिकारी वहां की वस्तुस्थिति पर गौर फरमाने की जरूरत नहीं समझ रहे हैं। आवास आवंटित कर अधिकारी यह गौर करना भूल गए कि आवंटित आवासों में हितग्राहियों ने रहना शुरू किया है या नहीं। फिलहाल अब प्रशासक व निगमायुक्त को इस पर गौर फरमाना होगा।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned