मां-बेटे की हत्या के आरोप में तीन गिरफ्तार, आक्रोशित लोगों ने उड गांव में किया प्रदर्शन

मां-बेटे की हत्या के आरोप में पुलिस ने बुधवार को तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया।

By: santosh

Published: 04 Jan 2018, 08:31 AM IST

सिरोही। मां-बेटे की हत्या के आरोप में पुलिस ने बुधवार को तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया। साथ ही, घटना के दौरान उपयोग में लिया वाहन भी जब्त किया। पुलिस इनसे हत्या के कारण जानने के लिए पूछताछ कर रही है। आरोपितों में एक दम्पती भी शामिल है। इधर, इस मामले को लेकर आक्रोशित लोगों ने उड गांव में प्रदर्शन किया और टायर फूंके। इस दौरान पुलिस जाप्ता तैनात रहा।

 

पुलिस के अनुसार बीते 28 दिसम्बर को जावाल निवासी प्रकाशचन्द्र पुत्र रावताजी पुरोहित ने बरलूट थाने में गुमशुदगी दर्ज करवाई थी कि छोटे भाई की पत्नी विमला देवी (35) और उसका पुत्र आकाश (12) पांच दिन से (23 दिसम्बर से) घर नहीं आए। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर तलाश शुरू की। पुलिस ने पर्चे भी छपवाए और बंटवाए, लेकिन कोई सुराग नहीं लगा।

 

बरलूट पुलिस ने तीन जनवरी को जावाल निवासी प्रकाश चन्द्र की रिपोर्ट पर हत्या का मामला दर्ज किया। अनुसंधान के दौरान शक के आधार पर पाड़ीव निवासी जानाराम पुत्र गणेशाराम भील, उसकी पत्नी सीता और उड निवासी हकीम (50) को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उन्होंने हत्या करना कबूल कर लिया।

 

मां का थराद में और बेटे का शव मिला था उदयपुर में
पुलिस के अनुसार कुछ दिन पहले गुमशुदा मां का शव बनासकांठा जिले के थराद क्षेत्र में जबकि बेटे का शव उदयपुर जिले के मांडवा के पास नाले में मिला था। पूछताछ में तीनों आरोपितों ने कबूला है कि उन्होंने हत्या की और शव अलग-अलग जगहों पर नाले में फेंक कर घर आ गए। पुलिस हत्या का कारण जानने के लिए गहन पूछताछ कर रही है। इधर, थराद और उदयपुर की पुलिस ने शिनाख्त के प्रयास किए लेकिन सफलता नहीं मिली। दोनों शवों का चंद रोज पहले ही अंतिम संस्कार कर दिया गया।

 

केस ऑफिसर स्कीम में जांच
एसपी का कहना है कि आरोपितों को त्वरित रूप से कठोर से कठोर सजा मिले, इस कारण इसे केस ऑफिसर स्कीम में लिया गया है। इसके तहत जिस अफसर को यह मामला सौंपा जाएगा, वह उसे हर एंगल से देखते हुए इतना मजबूत बनाएगा कि अदालत से आरोपितों को कठोरतम दण्ड मिले। यानी तहकीकात में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

 

अफवाह फैलाने वाले बख्शे नहीं जाएंगे
पुलिस ने इस मामले में आमजन से मिथ्या व भ्रामक खबरें प्रचारित करने और सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों से सतर्क रहने और उनके बारे में सूचना देने की अपील की है। ऐसे लोगों पर पुलिस नजर रख रही है। इन्हें बख्शा नहीं जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned