हैलीकाप्टर में चिकित्सा सहयोगी बनकर रोहतक गई थी हनीप्रीत

Shankar Sharma

Publish: Oct, 13 2017 09:58:41 (IST)

Sirsa, Haryana, India
हैलीकाप्टर में चिकित्सा सहयोगी बनकर रोहतक गई थी हनीप्रीत

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख को सजा मिलने के बाद राम रहीम व हनीप्रीत को वीआईपी ट्रीटमेंट दिए जाने का लगा दाग अब धुलता हुआ नजर आ रहा

चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख को सजा मिलने के बाद राम रहीम व हनीप्रीत को वीआईपी ट्रीटमेंट दिए जाने का लगा दाग अब धुलता हुआ नजर आ रहा है। बचाव पक्ष के वकीलों द्वारा सार्वजनिक की गई रिपोर्ट से यह साफ हो गया है कि हनीप्रीत चिकित्सा सहयोगी बनकर हैलीकाप्टर में राम रहीम के साथ रोहतक जेल गई थी। इसकी तैयारी सीबीआई कोर्ट का फैसला आने से पहले ही कर ली गई थी। इससे यह साफ हो गया है कि राम रहीम को इस बात का अंदेशा उसी दिन हो गया था जब सीबीआई कोर्ट ने फैसला आरक्षित रखा था।


साध्वी यौन शोषण मामले में राम रहीम के विरूद्ध सीबीआई कोर्ट ने 16 अगस्त को फैसला आरक्षित रखा था। माना जा रहा है कि वकीलों के माध्यम से राम रहीम को इस बात के संकेत मिल गए थे कि उन्हें सजा हो सकती है। जिसके चलते 17 अगस्त को डेरा सच्चा सौदा में एक बैठक में पूरी रणनीति तैयार की गई थी। इस बैठक के अगले ही दिन 18 अगस्त को चार सीनियर डाक्टरों ने राम रहीम की डाक्टरी जांच करके एक रिपोर्ट तैयार की थी।


राम की जांच करने वाले मैक्स अस्पताल नई दिल्ली के डाक्टर समीर बहल, डाक्टर जे.किडराणा तथा शाह सतनाम जी सुपर स्पैशलटी अस्पताल सिरसा के डाक्टर महेंद्र प्रताप व गौरव ने अपनी रिपोर्ट में राम रहीम को वर्ष 2007 से लेकर 2017 तक हुई बीमारियों का विस्तृत उल्लेख करते हुए कहा गया था कि राम रहीम की शरीरिक स्थिति ऐसी नहीं है कि वह अकेले कहीं आ जा सकें। जिसके चलते एक चिकित्सा सहयोगी की जरूरत है।


सूत्रों की मानें तो 25 अगस्त को राम रहीम जब पंचकूला की अदालत में पेशी के लिए आया तो वह डाक्टरों की रिपोर्ट अपने साथ लेकर आया था। जैसे ही अदालत की कार्यवाही शुरू तो राम रहीम ने रक्तचाप बढऩे की शिकायत की। इसके बाद उनके वकीलों ने जज को मैडिकल रिपोर्ट दिखाई।

यह रिपोर्ट दिखाए जाने के बाद पंचकूला कोर्ट परिसर के बाहर खड़ी हनीप्रीत को भीतर बुलाया गया। इसके बाद हनीप्रीत ने पूरे घटनाक्रम को कैसे मैनेज किया। यह किसी को नहीं पता चला लेकिन दावा किया जा रहा है कि इसी मैडिकल रिपोर्ट के आधार पर हनीप्रीत पंचकूला कोर्ट परिसर से सेना के पश्चिमी कमान मुख्यालय तक और वहां से हैलीकाप्टर में सवार होकर रोहतक जेल तक जाने में कामयाब हुई थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned