लॉकडाउन में घरेलू हिंसा: पहली बार एक मंच पर आएंगी हरियाणा की खाप पंचायत

महिलाओं के मुद्दे पर होगी डिजिटल खाप पंचायत
राष्ट्रीय महाखाप महापंचायत करेगी आयोजन

By: Devkumar Singodiya

Published: 23 May 2020, 11:21 PM IST

सिरसा/चंडीगढ़. लॉकडाउन के दौरान घरेलू हिंसा को लेकर जहां आए दिन खबरें आ रही है, वहीं इस मुद्दे पर पहली बार हरियाणा की खाप पंचायत एक मंच पर दिखाई देंगी। रविवार को राष्ट्रीय महाखाप महापंचायत द्वारा पहली बार डिजिटल महाखाप महापंचायत का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें हरियाणा की करीब एक दर्जन खापों के प्रतिनिधि भाग लेंगे।

डिजिटल खाप पंचायत के आयोजक एवं राष्ट्रीय महाखाप महापंचायत के संयोजक सुनील जागलान के अनुसार आमतौर पर हरियाणा में खापों को लेकर तरह-तरह की धारणाएं हैं। खापों का इतिहास हरियाणा से भी पुराना है। खापों ने हमेशा ही समाज को जोडऩे की बात कही है और पौराणिक परंपराओं को जिंदा रखा हुआ है।

वर्ष 2012 में कन्या भ्रूण हत्या के मुद्दे पर महाखाप महापंचायत का आयोजन करवा चुके सुनील जागलान ने बताया कि खाप पंचायत जिन्होंने सामाजिक ताना बाना बनाए रखने के लिए सदियों से धरातल पर कार्य किया है, उन्हीं विचारों के साथ कोरोना काल में महिलाओं पर हो रही घरेलू हिंसा रोकने के लिए खाप पंचायत का आयोजन किया जा रहा है। चंूकि इस स्थिति में एकत्र होना संभव नहीं है, इसलिए डिजिटल प्लेटफार्म का प्रयोग किया जा रहा है।

यह होंगे शामिल

डिजिटल खाप पंचायत में गठवाला खाप के प्रधान बलजीत मलिक, सतरोल खाप के इंद्र सिंह ढुल, पालम-360 के रामकरण सोलंकी, महम चौबीसी से तुलसी ग्रेवाल, दिल्ली खाप से नत्था प्रधान, कंडेला खाप के प्रधान टेकराम कंडेला, दहिया खाप के प्रधान सुरेंद्र दहिया, सतरोल खाप से कैप्टन महाबीर, नौगामा खाप से कुलदीप सिंह ढुल के अलावा आईसीएसएसआर की प्रो.मधु किश्वर भी शामिल होंगी।


हरियाणा के अधिक समाचारों के लिए क्लिक करें...
पंजाब के अधिक समाचारों के लिए क्लिक करें...

Show More
Devkumar Singodiya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned