scriptDistrict administration raided in Sitapur Jail | सीतापुर जेल में जिला प्रशासन का छापा, आजम खां की बैरक भी खंगाली गई, डीएम ने बतायी रूटीन कार्रवाई | Patrika News

सीतापुर जेल में जिला प्रशासन का छापा, आजम खां की बैरक भी खंगाली गई, डीएम ने बतायी रूटीन कार्रवाई

समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां इन दिनों चर्चा में हैं। रामपुर सदर से विधायक आजम खां रामपुर में कई मामलों में अनियमितता के मामले में आरोपित होने के बाद से करीब 14 महीने से सीतापुर की जिला जेल में बंद हैं।

सीतापुर

Published: April 30, 2022 08:27:50 pm

सीतापुर के जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने शनिवार को जिला जेल में छापा मारा तो हड़कंप मच गया। अफसरों के नेतृत्व में पुलिस की अलग-अलग टीमों ने करीब एक घंटे तक जेल के अंदर छापेमारी की। इस दौरान डीएम और एसपी ने सपा विधायक आजम खां सहित सभी बैरकों की गहनता से तलाशी ली। तलाशी के दौरान को टीएम को आजम समेत किसी भी बंदी की बैरक में कोई आपत्तिजनक वस्तु नहीं मिली। हालांकि जेल में छापेमारी को लेकर पुलिस की ओर से कोई बयान जारी नहीं किया गया है। वहीं जिलाधिकारी ने इसे रूटीन जांच बतायी है।
ajam.jpg
प्रशासन की सात टीमों ने की छापेमारी

डीएम और एसपी के जाने के बाद जेल महकमे ने राहत की सांस ली। शनिवार की दोपहर करीब सवा एक बजे सीतापुर के डीएम अनुज सिंह, एसपी आरपी सिंह जेल गेट पर पहुंचे। दोनों अफसरों के आने की सूचना मिलते ही जेल महकमे में हड़कंप मच गया। डीएम-एसपी पूरी टीएम के साथ जेल के अंदर दाखिल हुए। अंदर पहुंचते ही उन्होंने पुलिस की सात टीमों का गठन किया जिसमें कुछ प्रशासनिक अफसर भी शामिल थे। सभी टीमों ने जेल की एक-एक बैरक की तलाशी ली। सभी बंदियों की तलाशी ली गई।
आजम की बैरक को भी खंगाला गया

इस दौरान जेल की तन्हाई बैरक में बंद चल रहे सपा विधायक आजम खां की भी बैरक को भी खंगाला गया। उल्लेखनीय है कि आजम खां पिछले 14 महीने से सीतापुर की जेल में बंद हैं। उन पर 87 मामले थे। बताया जाता है कि 86 मामलों में जमानत हो चुकी है। एक मामला फंसा है। उसी में जमानत होना बाकी है। डीएम-एसपी ने जेल के भोजनालय व अस्पताल का बारीकी से निरीक्षण किया। सफाई व्यवस्था भी देखी।
आजम खां को लेकर जारी है सियासत

बता दें कि आजम खां को लेकर सियासत पहले से जारी है। प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव प्रमोद कृष्णम के बाद अब सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर भी उनसे मिलने वाले हैं। आजम से मिलने वाले सभी नेताओं ने आरोप लगाया है कि उन्हें जेल में यातनाएं झेलनी पड़ रही है। उन्हें छोटे मामलों में भी फंसाया गया है ताकि वे जेल से बाहर नहीं निकल सके।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

DGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थाकर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मभाजपा प्रदेश अध्यक्ष का हेमंत सरकार पर बड़ा हमला, कहा - 'जब तक सत्ता से बाहर नहीं करेंगे, तब तक चैन से नहीं सोएंगे'Largest Vaccination Drive: भारत में 88% वयस्क आबादी को लग चुकी हैं COVID टीके की दोनों डोजIPL 2022: सिर्फ चौके और छक्के से बटलर ने ठोके करीब 600 रन, विराट कोहली को भी छोड़ा पीछे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.