पति चीन की सरहद पर पत्नी लड़ रही अतिकर्मियों से


सैनिक की पत्नी ने चरागाह भूमि को मुक्त कराने का लिया संकल्प
दस माह बाद भी कलक्टर ने नहीं की हाईकोर्ट के आदेश की पालना

By: Vijay

Updated: 04 Aug 2020, 09:10 AM IST


निवाई. चीन बार्डर पर सरहद की रक्षा के लिए तैनात सैनिक की पत्नी भी उपखण्ड के सींदड़ा गांव की चरागाह भूमि को अतिक्रर्मियों से मुक्त कराने के लिए संघर्ष कर रही है। प्रशासन द्वारा सहयोग नहीं करने पर अकेले ही अतिक्रर्मियों के खिलाफ राजस्थान उच्च न्यायालय पहुंच कर अतिक्रमण हटाने के आदेश लेकर ही लौटी, लेकिन जिला प्रशासन ने उच्च न्यायालय के आदेशों की पालना नहीं करवा रही है। उपखंड क्षेत्र के सींदड़ा गांव में करीब 16 बीघा चरागाह भूमि पर कुछ लोगों द्वारा बना रखे पक्के मकान, बाड़े और खेत से 90 दिन के भीतर कब्जा हटाने के लिए उच्च न्यायालय जिला कलक्टर टोंक को आदेश दिए थे, लेकिन 10 माह बाद भी अभी हाईकोर्ट के आदेशों की पालना नहीं की गई। सींदड़ा निवासी सैनिक सुरेश मीणा की पत्नी कमला ने बताया कि गांव में स्थित 16 बीघा चरागाह भूमि पर 8-9 लोगों ने एकराय होकर कब्जा कर लिया है और 5 बीघा भूमि में पक्के मकान और बाड़े बना रखे है तथा 11बीघा भूमि में अतिक्रर्मियों ने खेत बनाकर सिंचाई के लिए कुएं खोद लिए है, जिनकी जिला व उपखंड प्रशासन को कई बार लिखित और मौखिक शिकायत की गई ,लेकिन कार्रवाई नहीं होने से अतिक्रर्मियों के हौसले बुलंद होते रहे, जिससे आज ग्रामीणों के सामने पशुओं के लिए चारे समस्या का सामना करना पड़ रहा है। कमला मीणा ने यह भी बताया कि उच्च न्यायालय के आदेश की पालना करवाने के लिए फ रवरी, मार्च और 6 जुलाई 2020 को भी जिला कलक्टर टोंक को ज्ञापन दिया था, लेकिन फि र भी कलक्टर द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है, जिससे उच्च न्यायालय के आदेशों की अवहेलना हो रही है।
पति से ही मिली सीख
सींदड़ा गांव की एमए पास बहू कमला मीणा ने बताया कि उसके पति सुरेश मीणा भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस बल में सैनिक है और पिछले एक वर्ष से चीन के बार्डर पर तंवाग में तैनात है, वहीं उसने भी गांव के पशुओं के लिए चरागाह भूमि अतिक्रर्मियों के चंगुल से मुक्त कराने का संकल्प लिया है।
पुलिस भी नहीं कर रही कार्यवाही
कमला मीणा ने बताया कि अतिक्रर्मियों के विरुद्ध कार्यवाही करने के लिए 9 जुलाई 2020 को पुलिस अधीक्षक टोंक को लिखित शिकायत दी थी, लेकिन अभी तक पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई। ए.सं.

उपखंड अधिकारी रूबी अंसार का कहना है कि सींदड़ा में चरागाह भूमि पर अतिक्रमण को लेकर अतिरिक्त जिला कलक्टर और तहसीलदार ने मौका देख लिया है और शीघ्र ही चरागाह भूमि से अतिकर्मियों को बेदखल कर दिया जाएगा।(ए.सं.)

Vijay Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned