scriptWhy do we itch? | वैज्ञानिकों ने सुलझाई गुत्थी, आखिर क्यों होती है खुजली! | Patrika News

वैज्ञानिकों ने सुलझाई गुत्थी, आखिर क्यों होती है खुजली!

locationजयपुरPublished: Nov 24, 2023 02:20:05 pm

Submitted by:

Kiran Kaur

अमरीका के हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के वैज्ञानिक पहली बार इस बात के प्रमाण जुटाने में सफल हुए हैं कि कैसे एक सामान्य त्वचा जीवाणु हमारी तंत्रिका कोशिकाओं को सीधेतौर पर प्रभावित कर खुजली होने का अहसास कराता है।

वैज्ञानिकों ने सुलझाई गुत्थी, आखिर क्यों होती है खुजली!
वैज्ञानिकों ने सुलझाई गुत्थी, आखिर क्यों होती है खुजली!
वाशिंगटन। वैज्ञानिकों ने आखिरकार यह पता लगा लिया है कि हमें खुजली क्यों होती है। अमरीका के हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के वैज्ञानिक पहली बार इस बात के प्रमाण जुटाने में सफल हुए हैं कि कैसे एक सामान्य त्वचा जीवाणु हमारी तंत्रिका कोशिकाओं को सीधेतौर पर प्रभावित कर खुजली होने का अहसास कराता है। इसके लिए शोधकर्ता चूहों की त्वचा को 'स्टेफिलोकोकस ऑरियस' जीवाणु के संपर्क में लाए और पाया कि कई दिनों में उनमें तेज खुजली होने लगी। शोध खुजली को लेकर लंबे समय से चली आ रही पहेली पर महत्त्वपूर्ण प्रकाश डालता है।
'स्टेफिलोकोकस ऑरियस' के संशोधित रूपों ने दिए निष्कर्ष:

वैज्ञानिकों का कहना है कि यह न केवल जीवाणु के कारण था बल्कि इसलिए भी था कि इसने चूहों को हल्के स्पर्श के प्रति भी अतिसंवेदनशील बना दिया जिससे सामान्यत: खुजली नहीं होती है। खुजली के लिए जिम्मेदार एकल जीवाणु एंजाइम की पहचान करने के लिए 'स्टेफिलोकोकस ऑरियस' के कई संशोधित संस्करणों का प्रयोग किया गया। अध्ययन के परिणाम एक्जिमा रोगियों के लिए मददगार साबित होंगे। एक्जिमा ऐसी स्थिति है जो शुष्क, खुजलीदार और सूजन वाली त्वचा का कारण बनती है। यह रोग छोटे बच्चों में आम है लेकिन किसी भी उम्र में हो सकता है।
सूक्ष्मजीवों का संतुलना बिगड़ने से बढ़ता खतरा:

एक्जिमा की स्थिति में हमारी त्वचा को स्वस्थ रखने वाले सूक्ष्मजीवों का संतुलन बिगड़ जाता है, जिससे 'स्टेफिलोकोकस ऑरियस' पनपने लगता है। अब तक एक्जिमा में होने वाली खुजली को त्वचा की सूजन के साथ जोड़कर देखा जाता था। लेकिन नए निष्कर्ष बताते हैं कि 'स्टेफिलोकोकस ऑरियस' अकेले ही एक आणविक श्रृंखला प्रतिक्रिया को भड़काकर खुजली का कारण बनता है। हार्वर्ड मेडिकल स्कूल से जुड़े प्रोफेसर इसाक चिउ के अनुसार हमने दिखाया है कि खुजली सूक्ष्म जीव के कारण ही हो सकती है। इसके लिए खुजली के पीछे पूरी तरह से एक नए तंत्र की पहचान की गई है। 'स्टेफिलोकोकस ऑरियस' जीवाणु क्रॉनिक एक्जिमा की समस्या से जूझ रहे लगभग हर मरीज में पाया जाता है।
दुनियाभर में एक्जिमा की समस्या

  • 20% बच्चों और 10% बड़ों को प्रभावित करता है यह रोग
  • 2022 में 22 करोड़ से ज्यादा लोग थे एक्जिमा की समस्या से पीड़ित
  • 05 देशों स्वीडन, ब्रिटेन, आइसलैंड, फिनलैंड और डेनमार्क में हैं सर्वाधिक रोगी
    स्रोत: एक्जिमा पर वैश्विक रिपोर्ट, 2022

ट्रेंडिंग वीडियो