श्रीगंगानगर में दो सीएमएचओ, हाईकोर्ट में आगामी सुनवाई २४ को

Krishan Ram | Updated: 20 Jul 2019, 11:12:10 PM (IST) Sri Ganganagar, Sri Ganganagar, Rajasthan, India

श्रीगंगानगर में दो सीएमएचओ, हाईकोर्ट में आगामी सुनवाई २४ को

-सीएमएचओ के पद को लेकर मामला (next hearing) हाईकोर्ट पहुंचा, डॉ. बंसल व डॉ. मेहरड़ा आमने-सामने, न्यायालय के आदेश के बाद ही स्थिति होगी स्पष्ट

श्रीगंगानगर. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में (Two CMH) सीएमएचओ के पद को लेकर मामला हाईकोर्ट पहुंच गया है। तत्कालीन सीएमएचओ डॉ. नरेश बंसल की ओर से दायर याचिका पर शनिवार को सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने डॉ. बंसल को सीएमएचओ के पद से हटाने के विभाग के १२ जुलाई के आदेश पर स्थगन आदेश जारी कर दिया है। कोर्ट के आदेश के बाद फिलहाल श्रीगंगानगर में दो सीएमएचओ डॉ. नरेश बंंसल और डॉ. गिरधारी लाल मेहरड़ा हो गए हैं। इसका कारण यह है कि डॉ. बंसल को हटाने के आदेश पर कोर्ट का स्टे हो चुका है और डॉ. मेहरड़ा विभाग के आदेश पर १३ जुलाई को सीएमएचओ के पद पर ज्वाइन कर चुके हैं। हाईकोर्ट में मामले की आगामी ( next hearing ) सुनवाई २४ जुलाई को होगी। कोर्ट में आगामी सुनवाई से पहले सीएमएचओ की कुर्सी पर कौन बैठेगा ? पद की जिम्मेदारी के कार्य कौन निबटाएगा, यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। विभाग के (rajasthan patrika news)आदेश पर १३ जुलाई को डॉ.गिरधारी लाल मेहरड़ा ने सीएमएचओ के पद पर ज्वाइन किया था। तब तत्कालीन सीएमएचओ डॉ. नरेश बंसल चार्ज देने के लिए नहीं आए थे। इसके बाद से सीएमएचओ डॉ.मेहरड़ा व पूर्व सीएमएचओ बंसल में सीएमएचओ पद को लेकर रस्साकशी चल रही है। इस मामले में शनिवार को हाईकोर्ट के आदेश के बाद तत्कालीन सीएमएचओ बंसल और सीएमएचओ मेहरड़ा सीएमएचओ पद को लेकर अपना-अपना दावा जता रहे हैं। शनिवार को सीएमएचओ डॉ. मेहरड़ा मुख्यालय से बाहर होने के कारण सीएमएचओ का चार्ज अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (परिवार कल्याण) डॉ. मुकेश मेहता के पास था। डॉ. मेहता ने बताया कि शनिवार शाम को डॉ. नरेश बंसल ने कोर्ट के आदेश के बाद ज्वाइन कर लिया है। इस संबंध में विभाग के उच्च अधिकारियों से मार्गदर्शन मांगा जाएगा।

डॉ.बंसल ने उप-नियंत्रक पद पर नहीं की ज्वाइनिंग
१२ जुलाई को स्वास्थ्य विभाग ने एक आदेश जारी कर डॉ.बंसल को सीएमएचओ पद से हटाकर राजकीय जिला चिकित्सालय श्रीगंगानगर में उप-नियंत्रक के ( Sriganganagar hindi news) पद पर लगाया था, लेकिन डॉ.बंसल ने वहां पर ज्वाइन नहीं किया था। डॉ.नरेश बसंल २६ फरवरी २०१४ से लेकर अभी तक करीब पांच साल तक सीएमएचओ रहे हैं। हालांकि बीच में दो बार इनको हटाया गया, लेकिन अपने स्तर पर जोड़-तोड़ कर फिर सीएमएचओ बन गए। अब राज्य में सत्ता बदली तो कांग्रेस के एक विधायक ने डॉ.मेहरड़ा की सीएमएचओ के पद पर अनुशंसा कर नियुक्ति करवा दी। वहीं जिले के अन्य विधायक भी डॉ.बंसल से खफा थे। इस कारण डॉ.बंसल की इस बार जयपुर में चिकित्सा विभाग में पार नहीं पड़ी तो उन्होंने हाईकोर्ट की शरण ली।

कब-कब सीएमएचओ रहे डॉ. बंसल
-डॉ.हरबंस सिंह बराड़ की जगह डॉ.नरेश बंसल को पहली बार सीएमएचओ २६ फरवरी २०१४ को लगाया ।

-१४ माह बाद डॉ.नरेश बंसल को हटाकर इनके स्थान पर उप-नियंत्रक डॉ.प्रेम बजाज को ७ मई २०१५ को सीएमएचओ लगा दिया।
-एक दिन बाद डॉ.बजाज को हटाकर फिर से डॉ.नरेश बंसल ८ मई २०१५ को सीएमएचओ बन गए ।

-आठ माह बाद डॉ.नरेश बंसल को हटाकर आरसीएचओ डॉ.वीपी असीजा को २३ दिसंबर २०१५ को सीएमएचओ लगाया।
- फिर आठ माह बाद डॉ.वीपी असीजा को हटाकर डॉ.नरेश बंसल २४ अगस्त २०१६ को सीएमएचओ बन गए।

- १२ जुलाई २०१९ को डॉ.बंसल को हटाकर डॉ.गिरधारी लाल मेहरड़ा नए सीएमएचओ बने।

हाईकोर्ट से मुझे स्टे मिल चुका है और मैंने शनिवार शाम को ज्वाइन कर लिया है।

डॉ.नरेश बंसल,तत्कालीन सीएमएचओ, श्रीगंगानगर।

हाईकोर्ट ने यह आदेश दिया है कि डॉ. नरेश बंसल को आगामी आदेश तक रिलीव नहीं किया जाए। लेकिन १२ जुलाई को विभाग के आदेश के अनुसार मैं सीएमएचओ के मूल पद पर बना रहूंगा,जब तक अगली सुनवाई में न्यायालय कोई निर्णय नहीं देता है।

डॉ.गिरधारी लाल मेहरड़ा, सीएमएचओ,श्रीगंगानगर।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned