script आखिर असमंजस समाप्त...उडऩदस्ता व निगरानी दल कार्यमुक्त | Finally the confusion ended...flying squad and surveillance team relie | Patrika News

आखिर असमंजस समाप्त...उडऩदस्ता व निगरानी दल कार्यमुक्त

locationश्री गंगानगरPublished: Nov 26, 2023 07:27:36 pm

Submitted by:

Ajay bhahdur

श्रीकरणपुर में विधानसभा चुनाव स्थगित होने के बावजूद कार्य कर रहे थे एफएसटी व एसएसटी

आखिर असमंजस समाप्त...उडऩदस्ता व निगरानी दल कार्यमुक्त
श्रीकरणपुर. चुनाव नियंत्रण कक्ष में अभिलेख व अन्य सामग्री जमा कराते निगरानी दल प्रभारी। -पत्रिका
खबर का असर

श्रीकरणपुर. स्थानीय विधानसभा क्षेत्र में चुनाव स्थगित होने के बावजूद कार्यरत उडऩदस्ता (एफएसटी) व स्थैतिक निगरानी दलों (एसएसटी) को आखिर रविवार को कार्यमुक्त कर दिया गया। रिटर्निंग अधिकारी के आदेश पर टीम प्रभारियों ने चुनाव नियंत्रण कक्ष में वाहन, अभिलेख व अन्य सामग्री जमा करवाई।
चुनाव नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी अनुसार स्थानीय रिटर्निंग अधिकारी व एसडीएम सुभाषचंद्र चौधरी की ओर से शनिवार को जारी आदेश के मुताबिक विधानसभा क्षेत्र में निगरानी के लिए गठित एफएसटी व एसएसटी को कार्यमुक्त कर दिया गया। साथ ही उन्हें विधानसभा चुनाव के मद्देनजर दिया गया वाहन, पब्लिक एड्रेस सिस्टम, वाहन की लॉग शीट व अन्य रिकॉर्ड जमा कराने के लिए निर्देशित भी किया गया। बता दें कि स्थानीय विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत श्रीकरणपुर, पदमपुर, केसरीसिंहपुर व गजसिंहपुर एरिया में शांतिपूर्ण व भयमुक्त चुनाव के लिए ९ उडऩदस्ता दल (एफएसटी) व ९ स्थैतिक निगरानी दल (एसएसटी) बनाए गए। प्रत्येक एफएसटी व एसएसटी में चार-चार पुलिसकर्मियों के अलावा एक वीडियोग्राफर व एक वाहन चालक भी शामिल था।
पत्रिका बनी माध्यम

गौरतलब है कि क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी गुरमीतसिंह कुन्नर के निधन के बाद चुनाव स्थगित कर दिए गए लेकिन चुनाव कार्य में नियंत्रण व निगरानी के लिए जुटी एफएसटी व एसएसटी टीमें यथावत कार्य करती रही। यही नहीं, अब अन्य विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव संपन्न होने के बावजूद इन टीमों की आगामी ड्यूटी संबंधी कोई आदेश नहीं आने से उनके लिए असमंजस की स्थिति बनी थी। इसे लेकर राजस्थान पत्रिका ने २६ नवंबर के अंक में चुनाव स्थगित...पर निगरानी दलों की परेशानी बरकरार तथा इससे पहले १८ नवंबर के अंक में श्रीकरणपुर में विधानसभा चुनाव स्थगित...लेकिन नियंत्रण और निगरानी यथावत शीर्षक से समाचार प्रकाशित किए। इस पर अधिकारी हरकत में आए और शनिवार को ही निगरानी दलों के कार्यमुक्त संबंधी आदेश जारी किए।

ट्रेंडिंग वीडियो