गुरुजी घर आकर ले रहे परीक्षा,सरकारी स्कूलों में प्रथम परख शुरू

-पहली से 12 वीं तक के विद्यार्थियों का होगा मूल्यांकन

By: Krishan chauhan

Published: 10 Sep 2021, 10:42 AM IST

-पहली से 12 वीं तक के विद्यार्थियों का होगा मूल्यांकन..गुरुजी घर आकर ले रहे परीक्षा,सरकारी स्कूलों में प्रथम परख शुरू

श्रीगंगानगर.कोरोना संक्रमण के चलते पिछले दो सालों से बिना परीक्षा प्रमोट होने वाले विद्यार्थियों को इस बार लिखित में पेपर देना होगा। अंतर सिर्फ इतना होगा कि इस बार पेपर घर तक पहुंचाया जा रहा है। उसका उत्तर लिखकर स्कूल पहुंचाना होगा। शिक्षा विभाग के निर्देशों के अनुसार गुरुवार को सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी पहला टेस्ट देंगे। जिले में सरकारी स्कूलों के करीब 2 लाख विद्यार्थी जबकि निजी स्कूलों के करीब 1.7 लाख बच्चे इस टेस्ट में शामिल होंगे। कुछ दिन पहले ही स्कूल खुल चुके हैं। इससे पहले ऑनलाइन क्लास ही लग रही थी। लेकिन ऑफलाइन पढ़ाई नहीं होने से ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थी को काफी परेशानी महसूस कर रहें हैं।

पेपर का प्रिंट निकालने में ही लगे रहे अध्यापक

सरकारी स्कूलों में पहले दिन अध्यापक पेपर का प्रिंट निकालने में ही लगे रहे। नौ से 13 सितंबर तक पेपर का वितरण किया जाना है और 16 सितंबर तक कॉपी चैक कर 18 सितंबर तक विद्यार्थी के अंक शाला दर्पण पोर्टल पर ऑनलाइन करने की कार्रवाई की जाएगी। पहले दिन स्कूलों में पेपर का लिंक पहुंच गया और अध्यापकों ने पेपर का प्रिंट निकाल कर विद्यार्थियों के घर तक पेपर पहुंचाने का काम किया। कुछ विद्यार्थी स्कूल में भी पेपर लेने पहुंच गए। इसको लेकर दिन भर स्कूलों में प्रिंट निकालने की कवायद चलती रही। जिस स्कूल में प्रिंटर की सुविधा नहीं है। वहां पर लिंक से पेपर निकालने में संस्था प्रधानों को परेशानी हुई।

-इस तरह होगा पहला टेस्ट
इस परीक्षा में कक्षा 1 से 10 के लिए सभी विषयों का एक ही पेपर तैयार किया जाएगा। वहीं 11 वीं और 12 वीं के लिए हिन्दी व अंग्रेजी अनिवार्य विषयों के साथ सभी विषयों के अलग-अलग टेस्ट होंगे। प्रत्येक विषय में 20 प्रश्न होंगे तथा प्रत्येक प्रश्न 1 नंबर का होगा। सभी विषय में प्रश्न वैकल्पिक होंगे। बच्चों को अ,ब,स और द में से एक उत्तर चुनना होगा।

-निजी विद्यालय 30 सितम्बर तक ले सकेंगे परीक्षा

शिक्षा विभाग ने राज्य के सभी निजी स्कूलों को निर्देश दिए हैं कि वो अपने विद्यार्थियों के कक्षा 1 से 12 तक के प्रथम टेस्ट 30 सितंबर तक अनिवार्य रूप से लें। सरकारी स्कूल की तरह प्राइवेट स्कूल भी इ-कंटेंट के आधार पर ही टेस्ट लेंगे। इस टेस्ट के रिकॉर्ड को सुरक्षित रखना होगा।

पंजाब का नहीं मिला पेपर
कक्षा 1 से लेकर 12 वीं तक स्कूलों में सभी विषयों के पेपर के लिंक स्कूलों में ऑनलाइन पहुंच गए। स्कूल प्रबंधन ने प्रिंटर से पेपरों के प्रिंट निकाल कर संबंधित विद्यार्थियों को पेपर वितरण का कार्य किया। जबकि पंजाबी विषय का पेपर का ऑनलाइन लिंक नहीं आया। इस कारण पंजाबी विषय की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों के लिए पेपर स्थानीय स्तर पर तैयार करवाया जाएगा। गौरतलब है कि पंजाबी विषय का स्माइल-2 कार्यक्रम में ऑनलाइन कंटेंट भी नहीं आया था। इस कारण विद्यार्थियों के लिए अब स्थानीय स्तर पर पढ़ाई करवाई गई थी,उसी में पेपर करवाया जाएगा।

-यूं होगा कक्षा और विषयवार विभाजन

1.कक्षा 1 व 2 के पेपर में सिर्फ दो सेक्शन होंगे। ए सेक्शन में हिन्दी तथा बी सेक्शन में गणित के सवाल होंगे।
2. कक्षा 2 से 5 में तीन सेक्शन होंगे। ए सेक्शन में हिन्दी, बी में अंग्रेजी व सी में गणित के सवाल होंगे।

3. कक्षा 6 से 10 में 6 सेक्शन होंगे। इसमें सेक्शन ए में हिन्दी, बी में अंग्रेजी, सी में गणित, डी में विज्ञान, इ में सामाजिक विज्ञान तथा एफ में संस्कृत विषय होगा।
4. कक्षा 11 और 12 वीं में दो पेपर होंगे। पहले पेपर के सेक्शन ए में हिन्दी, बी में अंग्रेजी होगी। वहीं दूसरे में तीनों वैकल्पिक पेपर के तीन सेक्शन होंगे।

प्रथम परख के लिए आओ घर से सीखें-2 और स्माइल-3 के तहत भेजे गए इ-कंटेंट में से ही पाठ्यक्रम के अनुसार प्रश्न पूछे गए हैं। इस टेस्ट में प्रत्येक विषय के लिए 20 अंक निर्धारित हैं।

सीबीइओ और पीइइओ तक पेपर पहुंच गया और आगे विद्यार्थियों को वितरित किया जा रहा है।

गिरजेशकांत शर्मा,डीइओ,प्रारंभिक,शिक्षा विभाग,श्रीगंगानगर।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned