बीकानेर से खदेड़े जिप्सम माफिया ने घड़साना में पांव पसारे

https://www.patrika.com/sri-ganga-nagar-news/

By: jainarayan purohit

Published: 29 Mar 2019, 11:50 AM IST

ढाई लाख का रोजाना रॉयल्टी का नुकसान

घड़साना.

बीकानेर जिले से खदेड़े जाने के बाद जिप्सम माफिया ने घड़साना में पांव पसारने शुरू कर दिए हैं। यहां लीज की आड़ में माफिया दर्जनों स्थलों पर एक्सवेकेटर से अवैध खनन कर रहे हैं। इन्हें खनिज विभाग का भी कोई भय नहीं है।
वहीं पुलिस विभाग में रात्रि डीओ पर नजर रखी जाती है। खनन में किसी प्रकार की बाधा नहीं पहुंचे, इसके लिए माफिया पूरी रात गश्त कर पुलिस की गतिविधियों पर नजर रखता है। आलाधिकारियों के यहां शिकायत होने पर इन्हें कार्रवाई करने से पहले ही भनक लग जाती है। रात्रि में खनन पर प्रतिबंध के बावजूद यहां बेरोकटोक खनन हो रहा है। अवैध खनन की सरकार को अगर रॉयल्टी दी जाए तो प्रति टन २५० रुपए का राजस्व मिलता है। इस तरह राज्य सरकार को हर दिन लगभग ढाई लाख रुपए की रॉयल्टी का नुकसान हो रहा है।


रात ८ बजे से सुबह तक चलता है अवैध खनन
सूत्रों ने बताया कि जिप्सम का अवैध खनन रात्रि आठ बजे से शुरू हो जाता है, जो सुबह होने तक चलता रहता है। जिप्सम का खनन कर स्थानीय स्तर की पीओपी फैक्ट्रियों में ट्रैक्टर-ट्रॉली, डम्फर आदि के माध्यम से परिवहन किया जाता है।


लीज की आड़ में होता है खुला खनन
जिप्सम का कारोबार करने वाले कई लोगों ने दिखावे के तौर पर जिप्सम खनन के लिए लीज ले रखी है। घड़साना के देशली, बेहवाला, फूलेवाला, ४ केएम, धांधू, खीरसर, २ एफएम, ३ पीएम, ९, ८ एमजीएम, ११-१२ आरजेएम, १९ केडब्ल्यूएम, १३ जेडडब्यूएम तथा रामसिंहपुर थाना क्षेत्र में १७ जीएम, कूपली, भागसर आदि क्षेत्र में लीज की आड़ में धड़ल्ले से अवैध खनन हो रहा है।


खारिज होगी अवैध खनन की भूमि
जिप्सम का तहसील क्षेत्र में अवैध खनन होता है तो राजस्थान भूमि अधिनियम धारा १७७ के तहत संबंधित भूमि मालिक के खिलाफ कार्रवाई करने का प्रावधान है। इस अधिनियम के तहत भूमि मालिक की भूमि का अधिकार खारिज एसडीएम कर सकता है।
-राजेन्द्र सिंह शेखावत, तहसीलदार घड़साना।

अवैध खनन माफिया पर कसा जाएगा शिकंजा
जिप्सम का अवैध खनन किसी सूरत में नहीं होने दिया जाएगा। माफिया के खिलाफ कई बार दबिश देकर कार्रवाई की गई है। अवैध खनन के मामलें में पुलिस ने वाहन और जिप्सम बरामद भी किए हैं। माफिया का नेटवर्क तोडऩे के लिए फिर कार्रवाई करेंगे।’
-कुलदीप वालिया, थानाधिकारी घड़साना।

 

jainarayan purohit
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned