प्रवासियों के साथ बढ़ रहा कोरोना का खतरा

इलाके में बीस मई को कोरोना का पहला पॉजिटिव रोगी मिलने के बाद इलाके के चिकित्सकों की चिंता बढ़ गई है। चिकित्सा विभाग ऐसी कोई आशंका नहीं छोडऩा चाहता जिससे कि जिले में अब तक मिले कोरोना रोगी की चेन आगे बढ़ सके।

-श्रीगंगानगर में पहुंचे तेलंगाना, महाराष्ट्र हरियाणा आदि राज्यों के प्रवासी
-प्रवासियों सहित कोरोना पॉजिटिव के परिजनों के भी सैंपल लिए
श्रीगंगानगर. इलाके में बीस मई को कोरोना का पहला पॉजिटिव रोगी मिलने के बाद इलाके के चिकित्सकों की चिंता बढ़ गई है। चिकित्सा विभाग ऐसी कोई आशंका नहीं छोडऩा चाहता जिससे कि जिले में अब तक मिले कोरोना रोगी की चेन आगे बढ़ सके। इसी क्रम में लगातार जहां एक ओर रोगी के परिजनों के सैंपल लिए जा रहे हैं वहीं इलाके के लिए बड़ी परेशानी बन रहे हैं प्रवासियों के भी सैंपल लेकर विभाग उनके संबंध में पूरी तरह आश्वस्त होना चाहता है। आलम यह है कि इन प्रवासियों के श्रीगंगानगर में आने पर पूरी नजर रखी जा रही है। शनिवार को ही श्रीगंगानगर में महाराष्ट्र, हरियाणा और तेलंगाना आदि राज्यों से आए करीब 23 लोगों के सैंपल लिए गए हैं।

प्रवासियों पर पैनी नजर
प्रदेश के बाहर से आने वाले प्रवासियों पर चिकित्सा विभाग पैनी नजर रखे हुए है। शुक्रवार रात इलाके में आने वाले एक ऐसे रोगी के सैंपल लिए गए जो हरियाणा में ऐसी हॉस्पिटल में भर्ती था जहां पहले से एक कोरोना संदिग्ध का उपचार चल रहा था। श्रीगंगानगर में एक निजी चिकित्सालय में उपचार के लिए पहुंचने पर चिकित्सालय प्रशासन ने इसकी जानकारी तत्काल राजकीय जिला चिकित्सालय को दी और इसका सैंपल लिया गया। वहीं शुक्रवार रात महाराष्ट्र से आए दो रोगियों को होम क्वॉरंटीन किया गया। इसके अलावा तेलंगाना से आए छह रोगियों में से दो के सैंपल लिए गए। महाराष्ट्र से आई एक बस में पूना, मुम्बई और जयपुर आदि इलाकों के बीस कोरोना संदिग्ध थे। इनके भी सैपल लिए गए।

कोरोना पॉजिटिव के परिजनों के लिए सैंपल
इलाके में जो कोरोना पॉजिटिव मिला है उसके दो परिजनों और जिस बस में वह आया उसके चालक और परिचालक की सैंपल रिपोर्ट तो नेेगेटिव आ चुकी है। इसके अलावा कोरोना पॉजिटिव के शेष रहे पांच में से चार परिजनों के सैंपल शनिवार को लिए गए। श्रीगंगानगर में जो कोरोना पॉजिटिव पाया गया है उसके साथ गांव जोगीवाला का एक चिकित्साकर्मी भी उसी बस में श्रीगंगानगर आया था। ऐसे में उसका भी सैंपल लिया गया है। कोरोना पॉजिटिव रोगी के परिजनों में एक बालक अभी शेष है, जिसका सैंपल नहीं लिया गया है।

चिकित्सक का भी सैंपल लिया
श्रीगंगानगर में 17 मई को पहुंचने के बाद कोरोना पॉजिटिव शहर के एक चिकित्सक के पास उपचार के लिए गया था। ऐसे में उस चिकित्सक का भी सैंपल लिया गया। अब शहर के लोगों की नजर इन प्रवासियों और कोरोना पॉजिटिव रोगी के परिजनों की सैंपल रिपोर्ट पर है। इलाके के ग्रीन जोन से बाहर होने के बाद से अब इलाकावासी प्रयास कर रहे हैं कि किसी तरह से शहर में अगले कुछ समय तक कोई नया रोगी सामने नहीं आए। इसके लिए वे स्वंय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं, मास्क लगा रहे हैं तथा जरूरत होने पर ही बाहर निकल रहे हैं।

jainarayan purohit
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned