गलती पेट्रोल पंप मालिकों की, भुगतेंगे वाहन स्वामी

-प्रदूषण प्रमाण-पत्र बनाने का काम ठप

By: pawan uppal

Published: 07 Jun 2018, 08:25 AM IST

श्रीगंगानगर.

जिला मुख्यालय पर प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र (पीयूसी) बनाने का काम पूर्णतया बंद हो गया है। इससे आने वाले समय में दोपहिया और चौपहिया वाहन मालिकों को भारी पैनल्टी देनी पड़ेगी। परिवहन विभाग का कहना है कि पीयूसी जारी करने वाले कुछ पेट्रोल पंप संचालकों ने अपने लाइसेंस का नवीनीकरण नहीं करवाया है। इस वजह से यह समस्या सामने आई है।


पत्रिका ने जब इस मामले में पड़ताल की तो यह तथ्य सामने आया कि शहर के कुछ पेट्रोल पंपों पर पूर्व में पीयूसी जारी किए जा रहे थे। परिवहन विभाग ने पीयूसी के काम को पूर्णतया ऑनलाइन कर दिया। पेट्रोल पंप संचालकों ने बकायदा अपने यहां कंप्यूटर सिस्टम भी लगाया है। जिले में दो मोबाइल वैन है, जिनके जरिए पीयूसी प्रमाण पत्र जारी किए जाते हैं। शहरी क्षेत्र के लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं है। इस वजह से हजारों वाहन स्वामियों ने अपने वाहनों के लिए प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र नहीं बनवाए हैं।

 

यह है प्रावधान
निर्धारित अवधि गुजरने के बाद एक माह तक दोपहिया वाहनों पर 200 रुपए एवं एक माह से अधिक समय होने पर 500 रुपए तथा चौपहिया वाहनों पर 1 माह तक 500 रुपए और एक माह से अधिक समय होने पर एक हजार रुपए पैनल्टी का प्रावधान है।


जिला मुख्यालय पर दो मोबाइल वैन और नेतेवाला में एक फिटनेस सेंटर की ओर से पीयूसी जारी करने का काम किया जा रहा है। कुछ पेट्रोल पंप संचालकों ने पीयूसी के लिए अपने लाइसेंसों का नवीनीकरण नहीं करवाया है जिससे यह समस्या आई है।
- जुगल किशोर माथुर, जिला परिवहन अधिकारी, श्रीगंगानगर

 

यहां भी पढ़े

राहत की फुहारों से गिरा पारा तो बिजली कट ने सताया - https://goo.gl/YkhVc1

सफाई ठेके की पुष्टि के लिए अधिकारियों ने डाला डेरा - https://goo.gl/Ngidjd

राहत की फुहारों से गिरा तापमान, तो बिजली ने सताया - https://goo.gl/2dhorq

ग्रामीण डाक कर्मियों की हड़ताल समाप्त - https://goo.gl/DRVfNc

बाधित सप्लाई से रुष्ट ग्रामीणों ने लगाया धरना, जेईएन का घेराव - https://goo.gl/XXVc94

 

Show More
pawan uppal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned