बाला​त्कार की शिकार नाबालिग किशोरी को लेकर जिलेभर में घूमती रही पुलिस..

बाला​त्कार की शिकार नाबालिग किशोरी को लेकर जिलेभर में घूमती रही पुलिस..

abdul bari | Publish: Nov, 10 2018 07:53:35 PM (IST) Sri Ganganagar, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

श्रीगंगानगर
श्रीविजयनगर थाना क्षेत्र में बालात्कार के मामले में एक सप्ताह तक पुलिस जिस किशोरी को मेडिकल मुआयने के लिए जिलेभर में महिला चिकित्सक को ढूंढती घूमती रही उसी किशोरी ने रायसिंहनगर में शनिवार देर शाम मेडिकल मुआयने से इंकार कर दिया। इससे पुलिस व चिकित्सालय प्रशासन असमंजस की स्थिति में आ गए। वारदात की शिकार हुई यह किशोरी पुलिस व चिकित्सा विभाग के लिए परेशानी बन गई। किशोरी को लेकर श्रीविजयनगर पुलिस पूरे जिले में घूमती रही लेकिन महिला चिकित्सक के अभाव में पीडि़ता का मुआयना नहीं हो पा रहा था। आखिरकार पुलिस अधिकारी किशोरी को लेकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के समक्ष पेश हुए तो उन्होने पुलिस को बाल कल्याण समिति समिति भेज दिया।

बाल कल्याण समिति के पास पहुंची पुलिस को रायसिंहनगर भेजा गया जहां मौके पर मौजूद वरिष्ठ महिला चिकित्सक डॉ. कोमल बाघला ने किशोरी के मेडिकल मुआयने की तैयारी शुरु की लेकिन शनिवार देर शाम मेडिकल के लिए जैसे ही पुलिस राजकीय चिकित्सालय पहुंची तो किशोरी ने मेडिकल बोर्ड के समक्ष मुआयने से ही इंकार कर दिया।

29 अक्टुबर को दर्ज हुआ था मामला
श्रीविजयनगर पुलिस के अनुसार 29 अक्टुबर को चक 29 जीबी निवासी युवक दीपाराम पुत्र कृष्णलाल बावरी अपने गांव की नाबालिग किशोरी को शादी का झांसा देकर बहला फुसलाकर ले गया तथा उसके साथ बालात्कार किया। परिजनों को इसकी भनक लगने पर परिजनों ने एक नवम्बर को श्रीविजयनगर पुलिस थाने में युवक के खिलाफ छात्रा को बहला फुसला कर भगा ले जाने व दुष्कर्म के आरोप में मामला दर्ज करवा दिया। पुलिस द्वारा मेडिकल मुआयने के बाद मजिस्ट्रेट के बयान करवाए जाने थे लेकिन पुलिस शनिवार शाम तक मेडिकल मुआयने के लिए ही भटकती फिरती रही।

जिलेभर में घूमे, नहीं हुआ मुआयना
किशोरी को मेडिकल परीक्षण के लिए लेकर घूम रहे श्रीविजयनगर पुलिस थाने के सहायक उपनिरीक्षक शिवराम ने बताया कि श्रीविजयनगर, सुरतगढ, श्रीकरणपुर, पदमपुर व जिला मुख्यालय के चक्कर लगाने के बावजूद पीडि़ता का मेडिकल मुआयना नहीं हो पाया है। जिस पर शनिवार को किशोरी को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के समक्ष पेश किया गया जहां से निर्देश मिलने पर बाल कल्याण समिति के पेश कर शनिवार शाम को रायसिंहनगर लाया गया। उन्होने बताया कि रायसिंहनगर में शनिवार देर शाम किशोरी व उसके परिजनों ने मुआयने से ही इंकार कर दिया।

हमने तैयारी की, लेकिन पीडि़ता ने किया इंकार
हमने उच्च स्तर पर मिले निर्देशों पर मेडिकल मुआयने की तैयारी की थी। लेकिन पीडि़ता व परिजनों ने इंकार कर दिया
-डॉ. तेजकुमार शर्मा, प्रभारी राजकीय चिकित्सालय रायसिंहनगर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned