scriptThe conspiracy to loot the collection amount to pay off the debt, the | कर्ज उतारने के लिए कलेक्शन की राशि हड़पने को रचा लूट का झूठ का षड्यंत्र, परिवादी गिरफ्तार | Patrika News

कर्ज उतारने के लिए कलेक्शन की राशि हड़पने को रचा लूट का झूठ का षड्यंत्र, परिवादी गिरफ्तार

- रुपए आरोपी के घर से बरामद हुए

श्री गंगानगर

Published: October 17, 2021 10:09:13 pm

श्रीगंगानगर. सदर थाना पुलिस ने एक निजी बैंक के कलेक्शन की राशि हड़पने के लिए लूट की झूठी एफआईआर दर्ज कराने के मामले का खुलासा करते हुए परिवादी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने इसके घर से लूटी बताई जा रही राशि बरामद कर ली है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
कर्ज उतारने के लिए कलेक्शन की राशि हड़पने को रचा लूट का झूठ का षड्यंत्र, परिवादी गिरफ्तार
कर्ज उतारने के लिए कलेक्शन की राशि हड़पने को रचा लूट का झूठ का षड्यंत्र, परिवादी गिरफ्तार

कार्यवाहक थाना प्रभारी कुलदीप सिंह चारण ने बताया कि 9 एलएनपी निवासी महबूब पुत्र विनोद खान ने शनिवार को रिपोर्ट दर्ज कराई कि वह एक्सीज बैंक में फिल्ड में काम करता है। कलेक्शन का भी काम करता है। शनिवार सुबह 6 बजे वह बाइक से पहले बैंक गया और कलेक्शन के लिए रवाना हुआ। गांव रोटावाली, जोगीवाला, लाधुवाला से राशि का कलेक्शन कर बखतावाली के रास्ते होकर गंगानगर ब्रांच के लिए निकल गया।
नाथावाली से 4 ई को जाने वाली रोड पर जा रहा था। तब नाथावाला से 4 ई जाने वाली सडक़ पर किन्नू के बाग के पास बाइक पर चार अज्ञात युवक आए और आगे आकर बाइक लगा दी। इन युवकों ने उससे मारपीट की और उसका बैग छीन लिया। बैग में एक लाख रुपए की नकदी, मोबाइल व टेब रखा हुआ था। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। जांच एएसआई राजसिंह को सौंपी गई।

कार्यवाहक थानाधिकारी के निर्देशन में थाना स्तर पर मामले के आरोपियों को पकडऩे के लिए टीम गठित की गई। टीम के कांस्टेबल राजकुमार बेनीवाल की ओर से तकनीकी साक्ष्य व मुखबिरों से वर्तमान मौजूदगी के संबंध में जानकारी जुटाई।
जांच अधिकारी की ओर से मामले में गहनता से पूछताछ कर साक्ष्य जुटाए गए। जिसेमं पाया गया कि परिवादी महबूब खान निवासी चक 9 एलएनपी ने कर्ज उतारने के लिए लूट का झूठा षड्यंत्र रचा है। राशि हड़पने के लिए यह झूठा मामला दर्ज कराया गया।
पुलिस ने जांच के बाद आरोपी के खिलाफ धारा 409, 182 में आरोप प्रमाणित पाए गए। पुलिस ने रविवार को आरोपी महबूब खान को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी के मकान से 94 हजार 510 रुपए की राशि बरामद कर ली।
टीम में जांच अधिकारी के साथ एएसआई पवन कुमार, हैडकांस्टेबल धर्मवीर सिंह, कांस्टेबल अश्वनी कुमार, संदीप कुमार दिनेश कुमार शामिल रहे। वहीं डीएसटी टीम के कांस्टेबल राजकुमार बेनीवाल की खुलासे में अहम भूमिका रही।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहदुल्हन के लिबाज के साथ इलियाना डिक्रूज ने पहनी ऐसी चीज, जिसे देख सब हो गए हैरानकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेश

बड़ी खबरें

RRB-NTPC Results: प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोले रेल मंत्री, रेलवे आपकी संपत्ति है, इसको संभालकर रखेंRepublic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवानहीं चाहिए अवार्ड! इन्होंने ठुकरा दिया पद्म सम्मान, जानिए क्या है वजहजिनका नाम सुनते ही थर-थर कांपते थे आतंकी, जानें कौन थे शहीद ASI बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रRepublic Day 2022: 'अमृत महोत्सव' के आलोक में सशक्त बने भारतीय गणतंत्रCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 7,498 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 10.59%डायबिटीज के पेशेंट्स के लिए फायदेमंद हैं ये सब्जियां, रोजाना करें इनका सेवनक्या दुर्घटना होने पर Self-driving Car जाएगी जेल या ड्राइवर को किया जाएगा Blame? कौन होगा जिम्मेदार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.