पंजाब में गन्ने का भाव बढ़ाकर 360 रुपए प्रति क्विंटल किया

पंजाब पैटर्न के हिसाब से गन्ने का भाव बढ़ाने की मांग रखी-पिछले चार वर्ष से गन्ने के श्रीगंगानगर शुगर मिल ने नहीं बढ़ा गन्ना के भाव, यहां पर 295 से 310 रु प्रति क्विंटल का भाव

By: Krishan chauhan

Published: 09 Sep 2021, 11:33 AM IST

पंजाब पैटर्न के हिसाब से गन्ने का भाव बढ़ाने की मांग रखी-पंजाब में गन्ने का भाव बढ़ाकर 360 रुपए प्रति क्विंटल किया

-पिछले चार वर्ष से गन्ने के श्रीगंगानगर शुगर मिल ने नहीं बढ़ा गन्ना के भाव, यहां पर 295 से 310 रु प्रति क्विंटल का भाव

श्रीगंगानगर. पंजाब पैटर्न के हिसाब से श्रीगंगानगर शुगर मिल में गन्ने का भाव बढ़ाने की मांग इलाके का गन्ना उत्पादक किसान कर रहा है। किसानों ने इसको लेकर शुगर मिल के जयपुर हैड क्वार्टर के जीएम तक यह बात पहुंचाई है। किसानों ने कहा कि पंजाब ने गन्ने के भाव 310 से बढ़ाकर इस बार 360 रुपए प्रति क्विंटल किए है। जबकि यहां की शुगर मिल को गन्ना पिराई सत्र शुरू होने से पहले गन्ने के भाव बढ़ाने होंगे। यदि समय रहते शुगर मिल प्रबंधन ने गन्ने के भाव पंजाब पैटर्न के हिसाब से नहीं बढ़ाए तो फिर यहां का गन्ना पंजाब की शुगर मिल में पिराई के लिए जाने की संभावना बढ़ जाएगी। हालांकि क्षेत्रीय विधायक गुरमीत सिंह कुन्नर भी इस मुद्दे को लेकर सक्रिय हो चुके हैं।
उल्लेखनीय है कि श्रीगंगानगर जिले में इस सीजन में 10 हजार बीघा में गन्ना की फसल है। मिल सर्वे के अनुसार गन्ना का उत्पादन 12 लाख क्विंटल होने का अनुमान है। इसमें शुगर मिल प्रबंधन को आठ लाख क्विंटल मिलने की उम्मीद है।

पंजाब में विधानसभा के चुनाव
गन्ने का भाव पंजाब में इस बार 310 रु से बढ़ाकर 360 रुपए प्रति क्विंटल किया गया है। इसका मुख्य कारण पंजाब में विधानसभा के चुनाव भी है। इसलिए वहां पर कांग्रेस की सरकार है और किसानों को खुश करना चाहती है।

—-------
किसान को नहीं मिल रहा उपज का सही दाम

कृषि बाहुल्य श्रीगंगानगर जिले का गन्ना उत्पादक किसान को उसकी उपज का सही मूल्य नहीं मिल रहा है। किसान के लिए खेती-किसानी ज्यादा मुनाफा का सौदा साबित नहीं हो पा रहा है। इसका मुख्य कारण बढ़ती महंगाई है। इस कारण खेती पर आय कम जबकि खर्चा ज्यादा आ रहा है। डीजल की कीमत प्रति लीटर 100 रुपए से पार है। इस स्थिति में गन्ना की बुवाई व लोढिग़ कर मिल तक लाने,खाद,बीज व गन्ना की कटाई व छिलाई की लैबर का खर्चा चार साल में काफी बढ़ चुका है। जबकि शुगर मिल प्रबंधन ने पिछले चार साल से गन्ना का एक रुपए तक नहीं बढ़ाया है। इस कारण गन्ना उत्पादक किसानों पर बढ़ती महंगाई में अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है।

क्या है गन्ने के भाव

-श्रीगंगानगर शुगर मिल में पिछले चार वर्ष से गन्ने के भाव -295 से 310 रु
-पंजाब की शुगर मिल ने गन्ने के भाव 310 रु से बढ़ाकर 360 रु किए

-श्रीगंगानगर जिले में गन्ना की बुवाई-10 हजार बीघा
-श्रीगंगानगर जिले में गन्ने का उत्पादन-12 लाख क्विंटल

-शुगर मिल को गन्ना पिराई के लिए मिलेगा-8 लाख क्विंटल

डीजल,खाद व लैबर के रेट बहुत बढ़ चुके हैं जबकि चार साल से गन्ना के भाव नहीं बढ़े हैं। समिति ने जीएम को पंजाब पैर्टन के हिसाब से गन्ने के रेट बढ़ाने की मांग की है। पंजाब ने इस बार गन्ने के रेट 310 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 360 रुपए प्रति क्विंटल कर दिए हैं।

-करतार सिंह, प्रधान, किसान गन्ना उत्पादक प्रबंध समिति, श्रीगंगानगर।

गन्ना उत्पादक किसानों ने गन्ना का भाव पंजाब की तर्ज पर बढ़ाने की मांग को लेकर ज्ञापन दिया था। यह ज्ञापन शुगर मिल के हैड ऑफिस जयुपर को आवश्यक कार्रवाई के लिए भेज दिया है।

-भवानी सिंह पंवार, एडीएम प्रशासन व कार्यवाहक जीएम, राजस्थान स्टेट गंगानगर शुगर मिल लिमिटेड।

इस बार इलाके में गन्ना की फसल ज्यादा अच्छी नहीं है। पंजाब में चुनाव है और वहां पर भाव बढ़ाने की जानकारी मिल रही है। यहां के किसानों की मांग आने पर सीएम साहब तक पहुंचा कर आवश्यक कार्रवाई करवाई जाएगी।
-गुरमीत सिंह कुन्नर, विधायक, श्रीकरणपुर।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned