वन विभाग के सूने कार्यालय को चोरों ने बनाया निशाना, विभागीय दस्तावेज चोरी कर कबाड़ी को बेचे

Jai Narayan Purohit | Publish: Jan, 14 2019 07:39:53 PM (IST) | Updated: Jan, 14 2019 07:39:54 PM (IST) Sri Ganganagar, Sri Ganganagar, Rajasthan, India

-मामले का खुलासा होने पर जागे अधिकारी, पुलिस जुटी जांच में
अनूपगढ़. वन विभाग के स्थानीय कार्यालय से चोरी हुआ रिकॉर्ड सोमवार को एक कबाड़ स्टोर में पड़ा मिला। यह रिकॉर्ड लगभग बारह थैलों में भरा था तथा बेहद महत्वपूर्ण है।
इसकी जानकारी मिलते ही बीकानेर से वन विभाग के सहायक वन संरक्षक (एसीएफ) महेन्द्र कुमार अनूपगढ़ पहुंचे । दोपहर बाद एसीएफ महेन्द्र कुमार अपने साथ अनूपगढ़ के रेंजर जितेन्द्र सिंह को लेकर तहसील कार्यालय के सामने वार्ड आठ में कबाड़ी किशनलाल के स्टोर पर पहुंचे। वहां थैलों में भरा रिकॉर्ड मिला।

कबाड़ी ने पुलिस को बताया कि कुछ दिन पहले कोई व्यक्ति इस रिकॉर्ड को रद्दी के भाव बेच गया था। वन अधिकारियों के सूचना देने पर पुलिस उप अधीक्षक सोहनलाल बिश्रोई और थानाधिकारी नरेश कुमार निर्वाण ने कबाड़ स्टोर पर जांच की। स्टोर संचालक से पूछताछ में पता चला कि यह रिकॉर्ड एक जनवरी को अज्ञात व्यक्ति उनकी दुकान पर बेच गया था। पुलिस ने मौके की कार्यवाही के बाद रिकॉर्ड जब्त कर लिया।

वन विभाग की ओर से इस सबंध में अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज करवाने की कार्रवाई की जा रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार अनूपगढ़ के रेंजर जितेन्द्र सिंह को रविवार को कार्यालय के दो कमरों के ताले तोडकऱ रिकॉर्ड चोरी होने की जानकारी मिली। उन्होंने कार्यालय पहुंचकर इसकी सूचना पुलिस को दी। रेंजर जितेन्द्र सिंह ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में सोमवार सुबह कस्बे में कई जगह से जानकारी जुटाई। इस पर तहसील के सामने स्थित इस कबाड़ स्टोर पर थैलों में भरा रिकॉर्ड मिला। इस पर जितेंद्रसिंह ने इसकी सूचना बीकानेर में उच्चाधिकारियों को दी।
पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामला दर्ज होने के बाद चोरी के आरोपियों के बारे में जानकारी जुटाई जाएगी। इस बारे में कबाड़ स्टोर के संचालक किशनलाल से पूछताछ की जाएगी । रेंजर जितेन्द्र सिंह ने बताया कि यह रिकॉर्ड वर्ष 1999 में 2013 की अवधि के बीच का है। मुख्यत: इसमें ग्रामीण क्षेत्रों में जोहड़-पायतान की जमीनों से सबन्धित दस्तावेज हैं। अन्य विभागीय रिकॉर्ड और महत्वपूर्ण कागजात भी इसमें शामिल हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned