इस बड़ी पार्टी की महिला नेता हुई गिरफ्तार, दिया ये बड़ा बयान

इस बड़ी पार्टी की महिला नेता हुई गिरफ्तार, दिया ये बड़ा बयान

Ruchi Sharma | Publish: Sep, 12 2018 10:25:53 AM (IST) | Updated: Sep, 12 2018 02:21:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

इस बड़ी पार्टी की महिला नेता हुई गिरफ्तार, दिया ये बड़ा बयान...

सुलतानपुर. जिले के अखण्डनगर थाना क्षेत्र के राहुलनगर तिराहे पर 21 सितम्बर 2004 को दो कम्युनिस्ट नेताओं राधेश्याम यादव तथा सजंय यादव की हत्या कर दी गई थी। उन्हीं दोनों कम्युनिस्ट नेताओं को शहीद मानते हुए उनकी प्रतिमाएं स्थापित करने के लिए माकपा नेता सुभाषिनी अली आयी थी, लेकिन स्थिति की सम्वेदनशीलता देखते हुए प्रशासन ने उन्हें नहीं जाने दिया । वहां जाकर दोनों कम्युनिस्ट नेताओं की मूर्ति लगाने पर अड़ी माकपा नेता सुभाषिनी अली और सैकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस की गाड़ी से 400 डाकबंगला ले जाया गया ,जहां देर शाम सिटी मजिस्ट्रेट रामअवतार ने जाकर सबको मुचलके पर रिहा कर दिया ।

अखण्डनगर थाना क्षेत्र के राहुल नगर चौराहे पर मूर्ति स्थापना को लेकर विवाद के चलते प्रशासन काफी सतर्क रहा । माकपा नेता सुभाषिनी अली के आने के कार्यक्रम के चलते जगह जगह पुलिस और पीएसी के जवान तैनात कर दिए गए थे । सुरक्षा व्यवस्था इस कदर थी कि मेला वाले स्थल पर भी किसी को जाने की अनुमति नहीं थी। गिरफ्तारी के कारण माकपा नेता सुभाषिनी अली वहां तक नहीं पहुंच पाई। उल्लेखनीय है कि 11 सितम्बर 2004 को कम्युनिस्ट राधेश्याम यादव और संजय यादव की यही हत्या कर दी गई थी । उनकी पहली पुण्यतिथि पर 2005 में कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं ने राहुलनगर चौराहे पर मूर्ति स्थापित कर दी थी । उन्हें शहीद का दर्जा देते हुए उनकी स्मृति में मेले का आयोजन किया।

यह सिलसिला 2016 तक चलता रहा। इसी बीच 2017 में सिंटू तिवारी की हत्या हो गई। इस हत्या के विरोध में भीड़ ने दोनों प्रतिमाओं को तोड़ दिया । 1981 से चला आ रहा यह खूनी संघर्ष यहीं नहीं थमा । एक माह के अंदर गौरव सिंह की हत्या हो गई । मंगलवार को दोनों मौसेरे भाइयों राधेश्याम यादव और संजय यादव की प्रतिमा लगाने के लिए माकपा के कार्यकर्ताओं ने शहीद मेला लगवाने का एेलान किया। फिर कोई अनहोनी न हो इसके लिए प्रशासन पूरा चौंकना हो गया था ।

माकपा नेता सुभाषिनी अली ने कहा कि प्रशासन को विश्वास में लेकर बहुत जल्दी ही दोनों नेताओं की मूर्तियां स्थापित की जाएंगी ।संगमरमर की प्रतिमा बनकर तैयार है । उन्होंने कहा कि मेले की अनुमति देकर प्रशासन ने मेला नहीं लगने दिया । सुभाषिनी अली ने कहा कि सुल्तानपुर पुलिस कही मेरा ही न इनकाउंटर करा दे ।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned