सुलतानपुर में कुल 62 कोरोना वायरस पाजिटिव, छह जिला अस्पताल कर्मचारी शामिल

सुलतानपुर जिले में छह स्वास्थ्यकर्मियों समेत 18 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। इन छह जिला अस्पताल के कर्मचारी हैं। बाकी 12 संक्रमित दूसरे राज्यों से आए प्रवासी मजदूर हैं जिन्हें जांच के बाद क्वॉरंटाइन किया गया है।

By: Mahendra Pratap

Published: 24 May 2020, 05:04 PM IST

सुलतानपुर. सुलतानपुर जिले में छह स्वास्थ्यकर्मियों समेत 18 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। इन छह जिला अस्पताल के कर्मचारी हैं। बाकी 12 संक्रमित दूसरे राज्यों से आए प्रवासी मजदूर हैं जिन्हें जांच के बाद क्वॉरंटाइन किया गया है। अट्ठारह कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 62 हो गई है। इनमें चार मरीजों के स्वस्थ होने के बाद 58 एक्टिव मामले हैं। जिलाधिकारी सी इंदुमती ने इसकी पुष्टि की है।

जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। शुक्रवार को 3 कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद शनिवार को भी 15 मरीज निकलने से पूरे जिले में हड़कंप मच गया है। परेशानी की बात यह भी है कि इसमें 6 करोना मरीज जिला अस्पताल के कर्मचारी भी हैं, बाकी 12 संक्रमितों में दूसरे राज्यों से आए प्रवासी है। इनमें से तीन लोगों की रिपोर्ट शनिवार को आ गई थी। उनमें से एक व्यक्ति मिनी ट्रक से मुंबई से अपने 17 साथियों के साथ घर लौटा था। जिले में दाखिल होते ही युवक के एक साथी की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई थी। मौत की सूचना लगते ही मौके पर पहुंची पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने ट्रक पर सवार अन्य 16 लोगों को कब्जे में ले लिया और उन्हें फैसिलिटी क्वॉरेंटाइन सेंटर भेज दिया था। स्वास्थ विभाग की ओर से कराए गए सैंपल में ट्रक से आया युवक कोरोना पॉजिटिव आ गया है। यह युवक भी ट्रक से 12 मई को अयोध्या होते हुए गांव पहुंचा था। जहां प्राथमिक विद्यालय में उसको क्वारन्टीन किया गया था। उसका सिंपल 18 मई को जांच के लिए भेजा गया था। सैंपल में युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। वहीं हरिहरपुर गांव का एक युवक मुंबई से आया था। उसकी 19 मई को सेंपलिंग कराई गई थी वह भी पॉजिटिव निकला है। सीएमओ डॉ सीवीएन त्रिपाठी ने बताया कि 10 मरीजों को कोरोना केयर सेंटर केएनआईटी और 8 मरीजों को अमेठी में भर्ती कराया गया है।

मिनी ट्रक से 17 मई की रात जिले में मुंबई से पहुंचे 17 लोगों में धम्मौर निवासी एक युवक की संदिग्ध दशा में मौत हो गई थी। डीएम के निर्देश पर मिनी ट्रक को को सीज करते हुए पुलिस ने ट्रक चालक व क्लीनर समेत 2 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके शव को कब्जे में लिया। हालांकि उसके शव की सैंपलिंग नहीं कराई गई थी। सैंपलिंग नहीं कराए जाने की नोडल अधिकारी अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व उमाकांत त्रिपाठी ने पुष्टि की है।

Corona virus
Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned