Online education/ महाविद्यालयों के 80 फीसदी छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा में रुचि नहीं

राज्य सरकार के शिक्षा विभाग ने जुटाए आंकड़ों से हुआ खुलासा, सरकारी 89 और अनुदानित 196 महाविद्यालयों से मांगी थी जानकारी

By: Sandip Kumar N Pateel

Updated: 09 Aug 2020, 09:01 PM IST

सूरत. कोरोना महामारी के कारण स्कूल और कॉलेजों में प्रत्यक्ष रूप से शिक्षा कार्य बंद है और सरकार के आदेश पर ऑनलाइन शिक्षा पर जोर दिया जा रहा है। इस दौरान महाविद्यालयों में ऑनलाइन शिक्षा को लेकर चौंकानेवाला खुलासा हुआ है कि महाविद्यालयों के 80 फीसदी छात्र ऑनलाइन शिक्षा में रुचि नहीं दिखा रहे। यह जानकारी खुद राज्य के शिक्षा विभाग की जांच में सामने आई है।

जून महीने से राज्य में नए शिक्षा सत्र का आरम्भ हो चुका है, तो कॉलेजों में भी 20 जुलाई से ऑनलाइन शिक्षा शुरू की गई है। राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों से संलग्न महाविद्यालयों में ऑनलाइन शिक्षा किस स्तर तरह चल रही है और छात्र ऑनलाइन शिक्षा में शामिल हो रहे हैं या नहीं इसके लिए शिक्षा विभाग ने राज्य में स्थित 89 सरकारी और 196 अनुदानित महाविद्यालयों से ऑनलाइन शिक्षा को लेकर जानकारी मांगी थी। जब महाविद्यालयों की ओर से जानकारी दी गई तो पता चला की 80 फीसदी छात्र ऑनलाइन शिक्षा में शामिल ही नहीं हो रहे।


करीब साढ़े लाख छात्र


शिक्षा विभाग के मुताबिक राज्य की विभिन्न महाविद्यालयों में 4.50 लाख से अधिक छात्र पढ़ाई कर रहे है। 89 सरकारी महाविद्यालयों ने दिए आंकड़ों के अनुसार इन महाविद्यालयों में 31 जुलाई तक 1500 ऑनलाइन क्लास का आयोजन किया गया, जिसमें महज 18,775 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया । वहीं अनुदानित 196 महाविद्यालयों की ओर से 3585 ऑनलाइन क्लास का आयोजन किया गया, जिसमें सिर्फ 62,472 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। यानी कुल 285 महाविद्यालयों ने 5085 ऑनलाइन क्लास का आयोजन किया और पांच लाख विद्यार्थियों में से सिर्फ 82,197 विद्यार्थी ही ऑनलाइन क्लास से जुड़े।


आर्ट्स और वाणिज्य के छात्र नहीं जुड़ रहे


शिक्षा विभाग ने अपने आकलन में बताया कि ऑनलाइन शिक्षा में सबसे कम रुचि आर्ट्स और वाणिज्य संकाय के छात्रों में देखी जा रही है। महज पांच से दस छात्र ही ऑनलाइन क्लास में जुड़ते है।

31 अगस्त महाविद्यालय बंद


सरकार की ओर 31 अगस्त तक स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया है। जबकि महाविद्यालयों को परीक्षा का आयोजन करने की अनुमति दी गई थी, लेकिन हालातों को देख अधिकतर परीक्षाएं रद्द कर दी गई। अब शुक्रवार को ही शिक्षा विभाग ने परिपत्र जारी कर राज्य में विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों को 31 अगस्त तक बंद रखने का आदेश जारी किया है, ऐसे में विद्यार्थियों के पास ऑनलाइन शिक्षा का ही विकल्प तब तक जारी रहेगा।

Sandip Kumar N Pateel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned