कोरोना से परीक्षा और परिणाम की दशा-दिशा खराब ...

- पहले सत्र की परीक्षा हुई नहीं और दूसरे सत्र की पढ़ाई का आदेश जारी

- महाविद्यालयों और विभागों को जारी किया परिपत्र

-ऑनलाइन पढ़ाई जल्द शुरू करने का निर्देश

 

By: Divyesh Kumar Sondarva

Updated: 12 Apr 2021, 07:01 PM IST

सूरत.

कोरोना के कारण वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय (वीएनएसजीयू) की पढ़ाई, परीक्षा और परिणाम में अव्यवस्था की स्थिति निर्मित हुई है। इसके चलते विद्यार्थियों के साथ प्राध्यापक भी दुविधा का शिकार हो रहे हैं। अनुस्नातक कक्षाओं के प्रथम सत्र की अभी तक परीक्षा नहीं हुई और विश्वविद्यालय की ओर से द्वितीय सत्र की पढ़ाई शुरू करने का आदेश जारी कर दिया गया है। इस आदेश के चलते विद्यार्थी से लेकर प्राध्यापक भी चिंतित हैं। विद्यार्थी प्रथम सत्र की परीक्षाओं की तैयारी करे या फिर द्वितीय सत्र की पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करे?
कोरोना संक्रमण ने शिक्षा प्रणाली को अस्त-व्यस्त कर दिया है। इस कारण पढ़ाई, परीक्षा और परिणाम तीनों प्रभावित हो रहे हैं। कक्षाएं शुरू नहीं हो रही है, इसलिए ऑनलाइन पढ़ाई चल रही है। ऑनलाइन पढ़ाई के कारण कई विद्यार्थी तनाव का शिकार हो रहे हैं। इसमें सबसे बड़ी समस्या परीक्षा को लेकर आ रही है। वीएनएसजीयू के अनुस्नातक वर्गों की अभी तक परीक्षा नहीं हो पाई है। वीएनएसजीयू ने मार्च-अप्रेल में परीक्षा का आयोजन किया था, लेकिन कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण परीक्षा स्थगित कर दी। ऊपर से विश्वविद्यालय ने बेवजह परिसर में आने वालों पर रोक भी लगा दी है। सरकार ने १० अप्रेल तक ऑफलाइन पढ़ाई पर रोक लगाई थी, लेकिन गुजरात में अब सरकार ने ३० अप्रेल तक रोक बढ़ा दी है। ऐसे में अब अनुस्नातक वर्गों की परीक्षा कब होगी, यह प्रश्न भी है।
- बिना परीक्षा कैसे आगे बढ़ाए सत्र?
अनुस्नातक वर्गों के प्रथम सत्र का पाठ्यक्रम पूर्ण हो गया है। सामने द्वितीय सत्र की पढ़ाई शुरू करने का समय आ गया है। इसलिए प्रथम सत्र की परीक्षा बिना ही द्वितीय सत्र की पढ़ाई शुरू कर देने का आदेश जारी किया गया है, जिससे विद्यार्थियों की पढ़ाई का समय ना बिगड़े, लेकिन बिना परीक्षा के आगे के सत्र की पढ़ाई विद्यार्थियों के लिए दुविधा का कारण बन गई है। विश्वविद्यालय ने विभागों और महाविद्यालयों को परिपत्र जारी कर ऑनलाइन पढ़ाने का आदेश दे दिया है। स्नातक पाठ्यक्रम के कई वर्गों की परीक्षा हो चुकी है, उनका परिणाम भी कोरोना के कारण जारी नहीं हो पा रहा है। इस संदर्भ में कई बार ज्ञापन भी दिया गया है, लेकिन अभी तक परिणाम जारी नहीं हो पाया है।

Divyesh Kumar Sondarva Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned