डेंगू के आठ मरीज मिले, हरकत में स्वास्थ्य विभाग

डेंगू के आठ मरीज मिले, हरकत में स्वास्थ्य विभाग

Sunil Mishra | Publish: Sep, 11 2018 11:06:54 PM (IST) Surat, Gujarat, India

विजलपोर की जयशक्ति सोसायटी का मामला
मौसमी बीमारियों ने पसारे पैर


नवसारी. विजलपोर की जयशक्ति सोसायटी में डेंगू के आठ मरीज मिलने की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग और नगर पालिका प्रशासन हरकत में आ गया है। इसके तहत जमा पानी का निकास कर डीडीटी पाउडर का भी छिडक़ाव करवाया गया।
जानकारी के अनुसार जयशक्ति सोसायटी में एक सप्ताह के दौरान ही आठ लोगों को डेंगू हुआ है। इसमें बच्चे भी शामिल हैं। जिन्हें अस्पताल मे भर्ती करवाना पड़ा था। इसमें से दो अभी भी अस्पताल में हैं।

 

patrika

नगरपालिका ने डीडीटी का छिडक़ाव कराया

इस बात की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग और नगरपालिका में हडक़ंप मच गया है। आनन-फानन में स्वास्थ्य विभाग की टीम और नपा के कर्मचारी पहुंचे और सोसायटी तथा आसपास फैली गंदगी को दूर किया। इस दौरान जमा पानी को हटाया गया। डीडीटी और ऑयल का छिडक़ाव किया गया। मच्छरों को काबू करने के लिए फॉगिंग मशीन से धुआं भी छोड़ा गया। स्वास्थ्य विभाग की टीम की जांच में कई जगहों पर डेंगू मच्छरों की ब्रीडिंग भी मिली।

सोसायटी में सर्वे शुरू कराया
मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी दिलीप भावसार ने कहा कि सोसायटी में सर्वे शुरू किया गया है । विभाग के संज्ञान में चार डेंगू मरीज मिले हैं। निजी अस्पतालों में भी जांच करवा रहे हैं।

 

patrika

पसरी गंदगी, अभी तक साफ नहीं
जानकारी के अनुसार मानसून के बाद कई इलाकों में गंदगी फैली है। नपा द्वारा इसे साफ करने का कोई प्रयास नहीं किया गया था। स्थानीय लोगों ने भी स्वच्छता के प्रति लापरवाही दिखाई। इससे जहां तहां सोसायटी व आसपास पानी जमा है। इसके कारण मौसमी बीमारियों ने पैर पसारना शुरू कर दिया है।

 

भजन संध्या में झूमे श्रद्धालु
वांसदा. क्षत्रिय सीरवी समाज आईमाता ट्रस्ट द्वारा नानी भामटी आईमाता वडेर मे सोमवार रात भजन संध्या का आयोजन किया गया। माता की स्थापना कर रात नौ बजे पूजा के बाद शुरू भजन कार्यक्रम में भजन कलाकार निम्बाराम देवासी और सहकलाकारों ने राजस्थानी भजनों की प्रस्तुति से भक्तों को झूमने पर विवश कर दिया। बाद में मंगलवार को सुबह महाआरती और महाप्रसाद का आयोजन किया गया था। जिसका लाभ बड़ी संख्या में समाज के लोगों ने लिया। इस दौरान खेरगाम, कलवाड़ा, मलीधरा, चिखली, रानकुवा, प्रताप नगर वघई समेत आसपास के विस्तारों से समाज के लोग आए थे।

Ad Block is Banned