एक्विफर मैपिंग के लिए हैलीबॉर्न सर्वे आज से

Mukesh Sharma

Publish: Oct, 10 2017 09:42:28 (IST)

Surat, Gujarat, India
एक्विफर मैपिंग के लिए हैलीबॉर्न सर्वे आज से

एक्विफर मैपिंग के लिए हैलीबॉर्न सर्वे मंगलवार से शुरू होगा। एनजीआरआई टीम सितंबर में इलेक्ट्रिकल रेसिस्टिविटी मैथड सर्वे कर चुकी है। दोनों रिपोर्ट की ए

सूरत।एक्विफर मैपिंग के लिए हैलीबॉर्न सर्वे मंगलवार से शुरू होगा। एनजीआरआई टीम सितंबर में इलेक्ट्रिकल रेसिस्टिविटी मैथड सर्वे कर चुकी है। दोनों रिपोर्ट की एनेलिटिकल स्टडी के बाद एनजीआरआई अपनी रिपोर्ट मनपा को सौंपेगी।

भविष्य में पानी की जरूरतों से पार पाने के लिए मनपा प्रशासन गाय पगला से मगदल्ला तक तापी नदी रूट की हाइड्रोजियोलॉजी पर काम कर रहा है। नदी की एक्विफर मैपिंग के लिए हैलीबर्न सर्वे किया जाना है, जिसमें हैलीकॉप्टर ड्रोन से सैंसरिंग कर कैविटी स्पॉट चिन्हित किए जाएंगे। मनपा प्रशासन ने हैदराबाद की एनजीआरआई को इसका जिम्मा सौंपा है। एनजीआरआई की टीम अब तक विभिन्न चरणों में तापी नदी का जायजा ले चुकी है। सितंबर की शुरुआत में टीम ने इलेक्ट्रिकल रेसिस्टिविटी मैथड से भी सर्वे कर लिया है। मंगलवार से हैलीबर्न सर्वे किया जाएगा।

१७ अक्टूबर तक होने वाले सर्वे में तापी नदी के २६८ वर्गमीटर क्षेत्र की १३ हजार लाइन में एक्वीफर मैपिंग की जाएगी। हैलीकॉप्टर से नदी के तल से ५०० मीटर नीचे तक सेंसरिंग कर एक्विफर स्पॉट चिन्हित किए जाएंगे। हैलीबॉर्न सर्वे की रिपोर्ट और इससे पहले हुए इलेक्ट्रिकल रेसिस्टिविटी मैथड सर्वे की रिपोर्ट के तुलनात्मक अध्ययन के बाद एनजीआरआई अक्टूबर अंत तक अपनी रिपोर्ट मनपा को सौंप देगी। गौरतलब है कि एनजीआरआई टीम सूरत से पहले राजस्थान और बिहार में भी एक्विफर मैपिंग की है। राजस्थान के दौसा और जैसलमेर में एक्विफर मैपिंग के परिणाम सकारात्मक आए हैं।

नवजात बच्ची को बस में छोड़ गई मां

अज्ञात महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच में जुटी पुलिस

अडाजण से पाल आरटीओ के बीच चलने वाली बीआरटीएस बस में मेट में लिपटी एक नवजात बच्ची लावारिस हालत में मिली। अडाजण पुलिस ने अज्ञात महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक बीआरटीएस बस (जीजे-5-बीएक्स-2150) आरटीओ कार्यालय के पास पहुंचने पर जब सभी यात्री उतर गए तो चालक ने बच्ची के रोने की आवाज सुनी। उसने अंतिम सीट पर मेट में लिपटी नवजात बच्ची को देखा और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने बच्ची को शिशुगृह भेज दिया। पुलिस ने बताया कि नवजात को जिस मेट में लपेटा गया था, वह रांदेर रोड के नारी अस्पताल एण्ड प्रसूति गृह का है। आशंका है कि इसी अस्पताल में बच्ची को जन्म दिया गया और बाद में उसे बस में लावारिस छोड़ दिया गया।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned