यहां इसलिए एक साथ दौड़ी इतनी गर्भवती महिलाएं

यहां इसलिए एक साथ दौड़ी इतनी गर्भवती महिलाएं

Sandip Kumar N Pateel | Publish: Sep, 02 2018 03:09:14 PM (IST) Surat, Gujarat, India

सूरत में हुआ ग्रीनाथोन का आयोजन , एक साथ कई गर्भवती महिलाओं ने वॉक कर लोगों को पौधारोपण और पर्यावरण संरक्षण के लिए जागरूक किया

सूरत. एक साथ कई गर्भवती महिलाओं ने रविवार को वॉक कर लोगों को पौधारोपण और पर्यावरण संरक्षण के लिए जागरूक किया। ताप्ती किड़्स, हार्ट्स एट वर्क फाउंडेसन और किरिंगटोन क्लब के संयुक्त तत्वाधान में रविवार सुबह सी.बी.पटेल ग्राउंड पर ग्रीनाथोन का आयोजन किया गया था।


गर्भ के तरह ही पौधों का करे पालन


ताप्ती किड्स के प्रमोद चौधरी ने बताया कि ग्रीनाथोन में गर्भवती महिलाओं को शामिल करने का उद्देश्य यही था कि जिस तरह एक मां अपने गर्भ में पल रहे पच्चे की देखभाल करती है, उसी तरह हम पौधें लगाने के बाद उसकी देखभाल करे और उसे पेड़ में परिवर्तित करे।


पुत्र-पुत्रियों के साथ माताओं ने भी लिया हिस्सा


ग्रीनाथोन में गर्भवती महिलाओं के साथ बड़ी संख्या में महिलाओं ने अपने पुत्र या पुत्रियों के साथ भी हिस्सा लिया। पेड़ पौधों को हम अपनी संतान माने और उसी तरह उनका भी खयाल रखे यह संदेश प्रतियोगियों ने दिया।


ग्रीनमैन विरल देसाई थे इवेंट के ब्रांड एम्बेसडर


ग्रीनाथोन इवेंट के लिए आयोजकों की ओर से सूरत में ग्रीनमैन के तौर पर पहचान बना चुके उद्यमी विरल देसाई को ब्रांड एम्बेसडर बनाया गया था। गौरतलब है कि विरल देसाई अब तक 19000 पौधों का सिर्फ रोपण ही नहीं कर चुके, लेकिन उनकी देखभाल भी कर रहे है। पर्यावरण और ऊर्जा बचाओ क्षेत्र में कार्य करने के लिए उन्हें कई राष्ट्रीय और प्रदेशस्तर के पुरस्कार भी मिल चूके है।

 

सूरत में होगा सबसे ऊंची दही हांडी का आयोजन

सूरत. जन्माष्टमी पर सूरत में सबसे ऊंची दही हांडी का आयोजन रांदेर क्षेत्र में होगा। हाड़ी फोडऩे वाले गोविंद मंडल के लिए आयोजकों की ओर से 2,55,555 रुपए की पुरस्कार राशि की घोषणा की गई है। आयोजन राजे ग्रुप की ओर से किया जा रहा है। शनिवार को आयोजित प्रेस वार्ता में राजे ग्रुप के संस्थापक तथा दही हांडी के संयोजक सुरेश पवार ने बताया कि मुंबई के बाद सूरत में सबसे ऊंची दही हांडी का आयोजन होगा। सूरत में करीब 150 गोविंदा मंडल हैं। इनमें से अधिकतर मंडल उनके आयोजन में हिस्सा लेंगे। गोविंदा मंडलों के लिए शर्त रहेगी कि एक मंडल तीन बार ही प्रयास कर पाएगा। हांडी फोडऩे में सफल होने वाले गोविंदा मंडल को 2,55,555 रुपए की पुरस्कार राशि दी जाएगी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned