प्रवासी मजदूरों की हुई घर वापसी

वलसाड जिले से दो ट्रेनों से भेजे गए 2400 लोग
एक स्पेशल ट्रेन वलसाड से गोरखपुर और दूसरी वापी से जौनपुर के लिए रवाना हुई


2400 people sent from Valsad district by two trains
One special train left from Valsad to Gorakhpur and the other from Vapi to Jaunpur.

By: Sunil Mishra

Updated: 10 May 2020, 12:00 AM IST

वलसाड. कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते शनिवार को दो ट्रेनों से 2400 लोगों को उनके राज्य के लिए रवाना किया गया। कांग्रेस की ओर से यात्रियों को टिकट के रुपए और भोजन मुहैया कराया गया। इस दौरान जीआरपी और आरपीएफ के जवानों ने पत्रकारों एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ धक्कामुक्की की।
सूरत से यूपी और एमपी के लिए प्रवासियों को ट्रेनों में रवाना करने के बाद वलसाड से भी कामगारों को भेजने की मांग उठने लगी। कांग्रेस ने शुक्रवार तक गोरखपुर और जौनपुर के आसपास के करीब 2400 लोगों को उनके गांव तक भेजने की प्रक्रिया पूरी की। शनिवार को यात्रियों को भोजन आदि की व्यवस्था के बाद वलसाड रेलवे स्टेशन से वलसाड-गोरखपुर टे्रन 09563 को रवाना किया गया। इसमें करीब 1200 लोग सवार थे। शनिवार सुबह के समय ट्रेन चलने के समय पर कांग्रेस कार्यकर्ता और पत्रकार स्टेशन पर पहुंचे तो सुरक्षाबलों ने किसी को भी स्टेशन के अंदर नहीं जाने दिया। जद्दोजहद के बाद आखिर रेलवे पुलिस पीछे हटी और यात्रियों को विदा किया गया।
शनिवार देर रात को वापी से वापी-जौनपुर ट्रेन रवाना की गई। इसमें भी करीब 1200 लोगों को रवाना किया गया। सभी को कांग्रेस ने टिकट के रुपए दिए। वलसाड जिले से रवाना हुए श्रमिक अब कब लौटेंगे, यह पता नहीं है।

https://www.patrika.com/ahmedabad-news/corona-alert-by-foot-labours-train-ahmedabad-news-gujarat-news-6063988/

https://www.patrika.com/satna-news/workers-express-train-reached-satna-6084216/

https://twitter.com/salman_xoxo/status/1259070825526890496?s=20

श्रमिकों को भेजने के मामले में राजनीतिक खेल
वलसाड. कोरोना के दौर में वलसाड में कांग्रेस और भाजपा राजनीतिक दल यह दिखाने से नहीं चूक रहे हैं कि वही उनके हितैषी हैं। वलसाड में पुलिस प्रशासन भी भाजपा के पक्ष में दिख रहा है। शनिवार को वलसाड रेलवे स्टेशन पर जहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पत्रकारों को स्टेशन से बाहर निकाल दिया गया, वहीं भाजपा के लोगों का पुलिस ने स्वागत किया। मजदूरों को उनके राज्य तक पहुंचाने के लिए कांग्रेस ने दिन-रात मेहनत कर व्यवस्थाओं को अंजाम दिया। वहीं शनिवार को जब ट्रेन रवाना हुई तो भाजपाई राजनीतिक फायदा उठाने पहुंच गए। पुलिस ने भी इसमें उनका भरपूर साथ दिया।

Sunil Mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned