कपड़ा बाजार खुलते ही मार्केट बंद कराने पहुंचे अधिकारी

एसटीएम, मिलेनियम, जेजे, रघुकुल आदि मार्केट बंद होने के बाद वापस खोलने के देने पड़े निर्देश

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 06 Jul 2020, 08:51 PM IST

सूरत. जिसका पहले से अंदेशा था, वैसा ही नए सप्ताह की शुरुआत में सोमवार को कपड़ा बाजार में देखने को भी मिल गया। सुबह अभी रिंगरोड कपड़ा बाजार खुला ही था कि कुछ ही देर में महानगरपालिका के अधिकारी मय पुलिस दल-बल के जहां कोरोना पॉजेटिव पाए गए थे, उन टैक्सटाइल मार्केट को बंद कराने धमक गए। हालांकि बाद में मुख्यमंत्री स्तर पर दखल होने से कुछ नए नियमों के साथ बंद कराए गए चारों टैक्सटाइल मार्केट खोले गए।
मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के शनिवार को सूरत दौरे के दौरान ही स्पष्ट हो गया था कि हीरा व कपड़ा उद्योग में कोरोना संक्रमितों के अधिक मामले पाए जाने से अब प्रशासनिक स्तर पर कड़ी व बड़ी कार्रवाई दोनों औद्योगिक क्षेत्र में संभव है। इस मामले में रविवार को चले बैठकों के दौर के बाद देर शाम यह भी स्पष्ट हो गया था कि कोरोना महामारी को लेकर हीरा बाजार व कपड़ा बाजार में खूब सतर्कता बरतनी पड़ेगी और तीन केस पाए जाने पर मार्केट बंद कराने की जानकारी मिली थी, हालांकि सुबह मनपा आयुक्त ने जो नोटिफिकेशन जारी किया, उसमें मात्र एक केस मिलने पर मार्केट बंद कराने के आदेश दिए गए थे। इसके बाद सोमवार सुबह पहले रिंगरोड कपड़ा बाजार खुला और थोड़ी देर बाद में ही महानगरपालिका के अधिकारियों की टीम मय-दल-बल के कमेला दरवाजा के निकट मिलेनियम टैक्सटाइल मार्केट में आ पहुंचे और कोरोना पॉजेटिव मिलने की बात कह प्रबंधन को मार्केट खाली कराने के निर्देश दिए। इसके थोड़ी देर बाद मार्केट परिसर में प्रबंधन ने मार्केट बंद कराए जाने का अनाउंसमेंट कर दिया और व्यापारी समेत अन्य लोग मार्केट परिसर से बाहर निकल गए।


एसटीएम और जेजे में भी गूंजे स्पीकर


मिलेनियम टैक्सटाइल मार्केट के बाद मनपा अधिकारियों का दस्ता सूरत टैक्सटाइल मार्केट व जेजे टैक्सटाइल मार्केट भी पहुंचे और यहां पर भी इसी तरह से मार्केट बंद कराने के अनाउंसमेंट कराए गए। सुबह में कपड़ा बाजार खुलते ही वापस मार्केट बंद कराए जाने से व्यापारियों समेत अन्य सभी लोगों में हडक़ंप मच गया और तरह-तरह की चर्चा जोर पकडऩे लगी।


सांसद कार्यालय भी पहुंची बात


रिंगरोड कपड़ा बाजार में मिलेनियम, एसटीएम, जेजे, रघुकुल आदि मार्केट बंद कराए जाने की बात सांसद सीआर पाटिल के जनसम्पर्क कार्यालय भी पहुंची। उस दौरान सांसद पाटिल व चारों विधायक और कपड़ा व्यापारियों के विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि व्यापारी कपड़ा बाजार में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए नई गाइडलाइन में शामिल किए जाने वाले पोइंट्स पर ही चर्चा कर रहे थे।


मुख्यमंत्री स्तर से बनी आखिर बात


पहले स्थानीय स्तर पर प्रशासन को सांसद व विधायकों ने समझाया कि इस तरह से एक केस मिलने पर पूरे टैक्सटाइल मार्केट को बंद कर देना उचित नहीं है और जब बात बनती नहीं दिखी तो मुख्यमंत्री स्तर पर चर्चा छेड़ी गई। बताया गया कि इस नीति से तो बड़ी मुश्किल हो जाएगी और कपड़ा उद्योग ढाई-तीन माह में जो संभलने की कोशिश कर रहा है, वो वापस गिर जाएगा।


अब रॉ ही होगी बंद


मुख्यमंत्री स्तर पर वार्ता के बाद स्थानीय प्रशासन को निर्देश दिए गए कि रिंगरोड कपड़ा बाजार में जिस टैक्सटाइल मार्केट में कोरोना संक्रमित केस मिले, उस दुकान और उस रॉ को बंद कराया जाए, ताकि मार्केट के अन्य हिस्सों में व्यापारिक गतिविधि सुचारु रखी जा सकें। यह निर्देश मिलने के बाद मनपा टीम ने मिलेनियम, एसटीएम, जेजे, रघुकुल आदि मार्केट में दुकान व रॉ को बंद करवाया।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned