पूर्व अध्यक्ष के स्टेज पर बैठने को लेकर विरोध

हंगामेदार रही पालिका की सामान्य सभा

By: सुनील मिश्रा

Published: 24 Jul 2018, 09:41 PM IST


वलसाड. वलसाड नगर पालिका की मंगलवार को हुई सामान्य सभा हंगामेदार रही। शाम चार बजे से शुरूहुई सभा तीन घंटे तक चली। हंगामे के बावजूद सभी कामों को मंजूरी दी गई। सभा शुरू होते ही विरोध पक्ष ने नपा की पूर्व प्रमुख और हाल में सत्तापक्ष की नेता सोनल सोलंकी को स्टेज पर बैठने को लेकर आपत्ति जताई। उनका तर्क था कि नपा अधिनियम में इस तरह का कोई प्रावधान नहीं है। उन्होंने कहा कि यही करना है तो सत्तापक्ष नेता के साथ विपक्षी नेता को भी ऊपर बैठाना चाहिए। इसे लेकर कुछ समय तक मामला गरमाया रहा। हालांकि काफी नोकझोंक के बाद भी सोनल सोलंकी अपनी जगह पर ही बैठीं रही। सभा के दौरान भाजपा पार्षद उजेश पटेल ने आरोप लगाया कि दो माह पहले मांगी गई जानकारी नहीं दी गई। यदि पार्षदों को जानकारी नहीं मिल रही है तो सामान्य जनता का क्या होगा। इसके बाद सीओ ने इंजीनियर हितेश पटेल को मांगी जानकारी समय पर मुहैया कराने का निर्देश दिया। पार्षद जाकिर पठान ने अब्रामा के मुख्य मार्ग पर मेटल नहीं डालने का आरोप इंजीनियर पर लगाते हुए कार्रवाई की मांग की। अन्य पार्षद रसेश माली ने भी इंजीनियर हितेश पटेल पर आरोप लगाया कि जीवीडी स्कूल के पास छात्रालय में नया पेवर ब्लॉक लगाने के बाद पुराने पेवर ब्लॉक बंगला वालों को मुफ्त में बांट दिया। उन्होंने भी इंजीनियर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। सामान्य सभा में दोनों ओर से आरोप प्रत्यारोप का दौर लंबा चला। तीन घंटे के दौरान सामान्य सभा ने कई कामों को मंजूरी दी।

दंपती की हत्या का आरोपी पुलिस पकड़ से दूर
वलसाड. अटक पारड़ी में दंपती की हत्या के आरोपी को पुलिस अभी तक पकडऩे में कामयाब नहीं हुई है। पुलिस ने उसे पकडऩे के लिए कई जगह दबिश दी, लेकिन वह नहीं मिला। अटक पारडी में रहने वाले किरण बाबू पटेल और उसकी पत्नी जागृति की रविवार रात हत्या कर दी गई थी। किरण के पिता बाबू पटेल ने मामले में अपने छोटे पुत्र सतीश पटेल पर ही दोनों की हत्या का आरोप लगाया है और थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बाबू पटेल के अनुसार दोनों बेटों में जमीन का विवाद चल रहा था और सतीश इस बात को लेकर अक्सर लड़ाई झगड़ा करता था। इसके कारण उसे अलग रहने को कहा गया तो वह पांच महीने से ससुराल में रह रहा था। पुलिस ने जब सतीश की ससुराल में दबिश दी तो वह पहले ही फरार हो चुका था। पुलिस उसे पकडऩे का लगातार प्रयास कर रही है।

सुनील मिश्रा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned