ट्रैफिक से निपटने के लिए लोगों का सहयोग जरूरी- पुलिस आयुक्त

ट्रैफिक समस्या से कमोबेश देश के सभी बड़े शहर जूझ रहे

By: विनीत शर्मा

Published: 18 Feb 2018, 12:50 PM IST

सूरत. पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने कहा कि शहर की ट्रैफिक समस्या से निपटने की जिम्मेदारी अकेले ट्रैफिक पुलिस की नहीं है। इसके लिए सभी को सहयोग करना होगा।

शर्मा शनिवार को दक्षिण गुजरात चैम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्रीज की ओर से आयोजित ओपन हाउस में बोल रहे थे। शहर की ट्रैफिक समस्या पर चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि शहर की आबादी बढऩे के साथ ही सड़कों पर वाहनों का दबाव टै्रफिक समस्या की बड़ी वजह है। व्यक्ति जाम में फंसता है तो उसकी प्रोडक्टिविटी घट जाती है। कमोबेश देश के सभी बड़े शहर इससे जूझ रहे हैं। इससे पहले चैम्बर प्रमुख पीएम शाह ने ओपन हाउस का उद्देश्य सामने रखा।

विभागों में समन्वय जरूरी

उन्होंने कहा कि शहर की व्यवस्था से जुड़े सभी विभागों में समन्वय के साथ ही लोगों को भी इसमें सहयोग करना होगा। इंफ्रास्ट्रक्चर, रास्तों, जेब्रा क्रॉसिंग, बम्प्स, डिवाइडर आदि के लिए सूरत महानगर पालिका को ध्यान रखना होगा तो रास्तों पर चल रहे वाहनों की जांच का काम आरटीओ को करना होगा। ट्रैफिक व्यवस्था संभालने का काम ट्रैफिक पुलिस को करना होगा। इन सबके बीच लोगों को भी ट्रैफिक व्यवस्था में सहयोग करना होगा।

सुझाया ऑड-ईवन फार्मूला

पुलिस आयुक्त ने शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए ऑड-ईवन फार्मूला सुझाया। उन्होंने कहा कि इस व्यवस्था से काफी हद तक सड़कों से लोड कम किया जा सकता है। इसके अलावा पीक ऑवर्स में ऑटो रिक्शा को व्यवस्थित करने के साथ ही भारी वाहनों को कडोदरा की जगह पलसाणा पर रोकने से भी इस समस्या से निपटने में सहूलियत रहेगी।

ट्रैफिक पुलिस ने मोटी बेगमवाड़ी में की कार्रवाई

सोशल मीडिया के जरिए कपड़ा बाजार स्थित मोटी बेगमवाड़ी में यातायात समस्या के फोटोग्राफ मिलने पर ट्रैफिक पुलिस ने शनिवार को कार्रवाई की। साथ ही नियमित ट्रैफिक प्वाइंट भी शुरू किया। सहायक पुलिस आयुक्त ट्रैफिक जेड.ए. शेख ने बताया कि वन-वे में अवैध रूप से वाहनों के प्रवेश की वजह से हो रही समस्या से निपटने के लिए शनिवार को कार्रवाई की गई। सर्कल पुलिस निरीक्षक के नेतृत्व में सर्कल स्क्वॉड ने दिन भर मुहिम चलाई। नियम तोडऩे वाले वाहन चालकों से ५५०० रुपए का जुर्माना वसूला। इसी तरह से एम.वी एक्ट २०७ के तहत ४, आईपीसी २८३ के तहत एक व आईपीसी २७९ के तहत पांच मामले दर्ज किए गए। वहीं यातायात व्यवस्था को दुरस्त किया गया। समस्या के स्थाई हल के नियमित टै्रफिक प्वाइंट भी निश्चित किया गया है।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned