सड़कों पर पशुओं का कब्जे से परेशान लोगों किया कुछ ऐसा...

सड़कों पर पशुओं का कब्जे से परेशान लोगों किया कुछ ऐसा...

Sandip Kumar N Pateel | Publish: Sep, 07 2018 02:19:47 PM (IST) Surat, Gujarat, India

कलक्टर समेत नपा सीओ और अध्यक्ष को सौंपा ज्ञापन, समस्या से छुटकारा दिलाने की मांग

नवसारी. सड़कों पर पशुओं के घूमने की समस्या का स्थायी तौर पर निवारण करने के लिए शहर के नागरिकों ने गुरुवार को कलक्टर, नपा सीओ और अध्यक्ष को ज्ञापन सौंपा। लोगोंने दस दिनों में पशुओं को पकडऩे की कार्यवाही शुरु करने की मांग की। जानकारी के अनुसार शहर समेत जिले में सड़कों पर घूमने वाले पशुओं से होने वाली समस्या बढ़ती जा रही है। सड़क पर अड्डा जमाए इन पशुओं के कारण आए दिन ट्रैफिक जाम और दुर्घटनाएं होती रहती हैं। मार्ग पर कई बार इन पशुओं की लड़ाई से कई वाहनों को भी नुकसान पहुंचता है। कुच दिन पहले पशुओं की लड़ाई के बीच चपेट में आने से एक वृद्धा की से मौत हो गई थी। जबकि बाइक सवार दो युवकों की मौत की घटना भी बन चुकी है।

 

गुरुवार को नवसारी नगर पालिका के ब्रान्ड एम्बेसडर विस्पी कासद और उनकी टीम, वी द वंडर वुमन संस्था तथा अन्य एनजीओ के अग्रणी और डॉ राजन सेठ, वकील गौतम देसाई समेत के नागरिकों ने मिलकर मोर्चा निकाला और नगरपालिका पहुंच कर सीओ, नपा अध्यक्ष तथा जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा और इस समस्या से छूटकारा दिलाने की मांग की। सीओ ने दस जल्द ही कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। बाद में सभी लोग नपा प्रमुख कांतु पटेल से मिले और शहर में पांजरा पोल बनाने के लिए जमीन आवंटित करने की मांग की। इस समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए पशुओं का सड़कों पर छोड़ देने वाले पशुपालकों के खिलाफ कार्रवाई करने की भी लोगों ने कलक्टर से मांग की।

 

 

लंबित मांगों को लेकर पटवारियों ने सौंपा ज्ञापन


नवसारी. नवसारी जिले के पटवारियों ने गुरुवार को उप जिला विकास अधिकारी को ज्ञापन सौंप कर लंबित मांगे पूरी करने की मांग की। जिला पटवारी कम मंत्री महामंडल की ओर से उपजिला विकास अधिकारी प्रिती ठक्कर को ज्ञापन सौंपा। पटवारियों ने बताया कि कई बार अनुरोध के बाद भी हमारी मंागों को नजरअंदाज किया जा रहा है। सरकार ने मांगों पर सकारात्मक रुख नही ंदिखाया तो आगामी दिनों में विरोध आंदोलन को तेज बनाया जाएगा। इस कार्यक्रम की सूची भी बनाई गई है, जिसके तहत दस सितंबर को काली पट्टी बांधकर विरोध करेंगे, 17 सितंबर को कार्यस्थल पर हाजिर रहकर पेन डाउन विरोध और 29 सितंबर से मास सीएल पर उतरकर दो अक्टूबर को पूरे राज्य में धरना दिया जाएगा।

Ad Block is Banned