सूरत रेलवे स्टेशन पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के संबोधन से पहले हटाए स्टेज और बैनर

- कांग्रेस ने ट्विट कर रेलमंत्री से पूछा राजनीतिक कार्यक्रम की अनुमति किसने दी...

- निकाय चुनाव में मिली जीत के बाद लगाए गए थे पोस्टर

By: Sanjeev Kumar Singh

Updated: 04 Mar 2021, 10:52 PM IST

सूरत.

सूरत रेलवे स्टेशन परिसर में बुधवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के संबोधन के लिए बनाये गए स्टेज और बैनर से विवाद हो गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रेलवे परिसर में राजनीति पार्टी के कार्यक्रम का विरोध करते हुए रेलवे को ट्विट कर दिया। इसके बाद आनन-फानन में रेलवे ने भाजपा के स्टेज और बैनर हटवा दिए, लेकिन इस संबंध में स्थानीय अधिकारी ने चुप्पी साध रखी है।

सूरत रेलवे स्टेशन पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और सांसद सीआर पाटिल शताब्दी एक्सप्रेस से बुधवार को सूरत आने वाले थे। निकाय चुनाव में मिली जीत के चलते उनके स्वागत में भाजपा कार्यकर्ताओं ने रेलवे परिसर में पाटील के स्वागत तथा संबोधन के लिए स्टेज बनाया गया था। सूरत स्टेशन के मुख्य प्रवेश द्वार के सामने सर्कुलेटिंग एरिया में निकाय चुनाव में मिली जीत को लेकर "भव्य विजय" के होर्डिंग्स लगाए गए थे और मंच भी सजाया गया था। लेकिन रेलवे की ओर से कार्यक्रम करने की अनुमति बीजेपी को नहीं दी गई थी। रेलवे से अनुमति नहीं मिलने के बावजूद सूरत स्टेशन पर स्टेज और बैनर लगा दिए गए। जबकि सूरत रेलवे सुरक्षा बल और रेलवे पुलिस इसे रोकने में नाकाम रही। यह देख कांग्रेस ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। दोपहर लगभग दो-ढाई बजे राष्ट्रीय यूथ कांग्रेस प्रवक्ता शान खान ने सूरत स्टेशन निदेशक दिनेश वर्मा से भाजपा को दिए गए मंजूरी पत्र दिखाने की मांग की। शान ने रेलवे परिसर में नियमानुसार किसी भी तरह की राजनीतिक पार्टी का कार्यक्रम नहीं होने की बात कही। इसके बाद कांग्रेस ने ट्वीट कर मामले पर रेलवे मिनिस्ट्री और जोनल रेलवे से त्वरित कार्रवाई की मांग की।

मुम्बई मंडल के सीनियर अधिकारियों ने तत्काल प्रभाव से स्टेज और बैनर हटाने के निर्देश दिए। पाटील के सूरत पहुंचने से पहले रेलवे परिसर से सभी बैनर और स्टेज को हटा दिया गया। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि बीजेपी द्वारा नियमों को ताक पर रखकर राजनितिक कार्यक्रम कर रही है। ऐसा होता है तो कांग्रेस भी यहां राजनितिक पार्टी का कार्यक्रम आयोजित करेगी। गौरतलब है कि रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारियों ने फोन नहीं उठाकर इस मामले में जवाब देने से बचते हुए दिखाई दिए।

भाजपा कार्यकर्ता पहुंचे स्टेशन, कार्यक्रम रद्द

रेलवे स्टेशन परिसर में कन्फर्म टिकट वाले यात्रियों के अलावा किसी अन्य व्यक्ति के प्रवेश की मंजूरी नहीं है। इसके बावजूद भाजपा के कार्यकर्ता बुधवार शाम को बड़ी संख्या में स्टेशन पहुंच गए। परिसर के अलावा बड़ी संख्या में वे प्लेटफार्म पर भी पहुंच गए थे। स्टेशन पर कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह से उललंघन हुआ। लेकिन पाटील के ट्रेन से उतरने के बाद वे सीधे बाहर के लिए रवाना हो गए। और स्टेशन पर होने वाला कार्यक्रम बिना सूचना के ही रद्द कर दिया गया।

ट्विटर पर आरपीफ ने दिया जवाब

स्टेशन पर भाजपा के स्टेज और बैनर के फोटो ट्विटर पर पोस्ट करके रेलमंत्री से जवाब मांगा गया। इसके बाद मुम्बई रेल मंडल में रेलवे सुरक्षा बल के सीनियर डीएससी विनीत खर्ब ने सूरत के अधिकारियों को निर्देश देकर स्टेज और बैनर हटवा दिए। लेकिन ट्विटर पर रेलवे सुरक्षा बल ने लिखा कि जवान ने स्थल का निरीक्षण किया, जहां कोई स्टेज और बैनर नहीं मिला। साथ ही सूरत आरपीएफ को निर्देश दिए कि पूरे मामले पर नजर रखे और कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाए।

स्वागत की अनुमति ली, संबोधन की नहीं

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के स्वागत के लिए पार्टी के कार्यकर्ता अनुमति लेने स्टेशन निदेशक से मिलने आए थे। स्टेशन निदेशक ने मुझसे बात कर उन्हें स्वागत की अनुमति दी थी, लेकिन स्टेज और बैनर के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

- जी. वी. एल. सत्यकुमार, डीआरएम, मुम्बई डिविजन

Show More
Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned