मकर संक्रांति पर्व आज...

Divyesh Kumar Sondarva

Publish: Jan, 13 2018 08:13:24 (IST)

Surat, Gujarat, India
मकर संक्रांति पर्व आज...

लोग छतों पर, आंखें आसमान में , पतंग और मांझे के साथ पटाखों की जमकर खरीदारी

सूरत. मकर संक्रांति का पर्व रविवार को धूमधाम से मनाया जाएगा। इस दिन पूरा शहर छतों पर होगा। लोग पतंगें उड़ाने के साथ पार्टी भी करेंगे। रात को आतिशबाजी की जाएगी। इस मौके पर दान-पुण्य भी किया जाएगा।

 


उत्तरायण की सुबह से ही पूरा शहर छतों पर पतंग उड़ाने पहुंच जाएगा। पतंगोत्सव का आनंद लेने के लिए परिवार के सभी सदस्य पतंगों, मांछा और तरह-तरह के स्वादिष्ट व्यंजनों के साथ पूरे दिन छतों पर ही मौजूद रहेंगे। पतंग उड़ाने के बाद रात को लोग आतिशबाजी करेंगे। इसके लिए लोगों ने पटाखों और पतंगों तथा इससे जुड़ी सामग्री की शनिवार को भागल सहित अन्य इलाकों में देर रात तक खरीदारी की। छतों पर पार्टी करने के लिए लोगों ने डीजे की भी बुकिंग करवाकर रखी है।

 


पतंग एसेसरीज की जमकर बिक्री
शहर में पतंगों और उससे जुड़ी एसेसरीज की बिक्री के लिए स्टॉल लगाए गए हैं। मौज-मस्ती के लिए लोगों ने सीटी, बिगुल, टोपियों की जमकर खरीदारी की। बिगुल की कीमत 100 रुपए से लेकर 300 रुपए तक है। तेज धूप से बचने के लिए तरह-तरह की स्टाइलिस टोपियां भी बाजार में हैं। पतंग उड़ाने के शौकीन लोगों के लिए खास टोपी तैयार की गई है। जिससे धूप से बचाव हो जाता है और अगल-बगल में पानी या फिर कोल्ड डिं्रक्स की बोतल रख सकते हंै। इसकी कीमत करीब 350 रुपए है। इसके अलावा सौर ऊर्जा से हवा देने वाली एवं विभिन्न रंगों वाली टोपियों, चश्मों के अलावा मुखौटे भी खरीदे गए। एसेसरीज विक्रेताओं का कहना है कि लोगों को पतंगोत्सव में छतों पर कुछ अलग दिखना ज्यादा पसंद आता है। लोग दूसरी छत वालों या अपने दोस्तों का ध्यान आकर्षित करने हैं। इसके चलते सूरत में पतंग एसेसरीज का व्यापार अच्छा हो रहा है।

 


उंधियु, तिल के लड्डू और चिक्की की खरीदारी
मकर संक्रांति पर्व पर तिल के बने व्यंजनों, उंधियु और चिक्की की खूब खरीदारी होती है। उंधियु और चिक्की की बिक्री करोड़ रुपए तक पहुंच जाती है। सूरत के लोगों की उंधियु-पूड़ी पहली पसंद है। शनिवार से ही दुकानों पर लोगों ने खरीदारी और ऑर्डर देने का काम कर लिया। 100 रुपए से 600 रुपए प्रति किलो के दाम से बेचा जा रहा है। पतंग के साथ सूरत का उंधियु और चिक्की बाजार भी देश में प्रख्यात है।

 

उबाडिय़ा का दिया ऑर्डर
सूरत से नवसारी, बारडोली और वलसाड जाने वाले रोड पर उबाडिय़ा के कई स्टॉल लगे हुए हैं। सूरत से बाहर जाने वाले कई लोग उबाडिय़ा जरूर खाते हैं। कई लोगों ने हाईवे स्थित स्टॉल से ऑर्डर देकर उबाडिय़ा मंगवाया है।

 

हवा के भरोसे उत्तरायण का मजा
सूरत उत्तरायण त्योहार के लिए भी प्रसिद्ध है। इस पर्व का दारोमदार मौसम पर टिका हुआ है। शनिवार को अधिकतम तापमान 32.6 डिग्री और न्यूनतम तापमान 22.8 डिग्री दर्ज हुआ है। हवा की गति 2 कि.मी प्रति घंटा दर्ज की गई है। हवा का रुख रविवार को उत्तरायण का मजा तय करेगा।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned