आइटीसी के मुद्दे पर राहत देने की मांग

आइटीसी के मुद्दे पर राहत देने की मांग

Dinesh O.Bhardwaj | Updated: 20 Dec 2018, 10:15:30 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

-फोगवा ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा

सूरत. जीएसटी लागू होने के डेढ़ साल बाद भी इनपुट टैक्स क्रेडिट के मुद्दे पर वीवर्स की मांग अधूरी है। फोगवा ने 22 दिसंबर को होने वाली जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में वीवर्स को आइटीसी मुद्दे पर राहत देने की मांग की है।
इस बारे में फैडरेशन ऑफ गुजरात वीवर्स एसोसिएशन (फोगवा) ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है। इसमें बताया गया है कि केन्द्र सरकार की ओर से जारी परिपत्र क्रमांक 20/2018 (सेंट्रल टैक्स) में लैप्स शब्द के कारण वीवर्स को 1 जुलाई, 2017 से 31 जुलाई, 2018 तक का इनपुट टैक्स क्रेडिट गंवाना पड़ेगा। इससे सूरत समेत देशभर के उद्यमियों को करोड़ों रुपए का नुकसान होगा। पत्र में परिपत्र से लैप्स शब्द हटाने की मांग करते हुए कहा गया है कि सूरत का कपड़ा उद्योग पहले से मंदी के दौर से गुजर रहा है। यदि परिपत्र से लैप्स शब्द नहीं हटाया गया तो उद्यमियों की हालत और खराब हो सकती है। परिपत्र में सुधार से सूरत के कपड़ा उद्यमियों को 600 करोड़ रुपए का लाभ होगा।
सूरत समेत देशभर के कपड़ा उद्यमी इनपुट टैक्स क्रेडिट के मुद्दे पर स्थानीय नेताओं से लेकर कई केन्द्रीय मंत्रियों तक गुहार लगा चुके हैं। वीवर्स इस सिलसिले में कई बार गांधीनगर और दिल्ली तक दौड़ लगा चुके हैं, लेकिन आश्वासन के सिवाय कुछ नहीं मिला।

खेल वार्षिकोत्सव में दिखाया दम-खम


अग्रवाल समाज विद्या विहार ट्रस्ट संचालित वेसू की अग्रवाल विद्या विहार स्कूल में दो दिवसीय खेल वार्षिकोत्सव का आयोजन बुधवार से किया गया। खेल वार्षिकोत्सव के दौरान आयोजित विभिन्न प्रतियोगिता में स्कूल के जुनियर केजी से कक्षा 11 के तीन हजार से अधिक बच्चे भाग ले रहे है। ट्रस्ट की स्पोट्र्स कमेटी के चेयरमैन राजकिशोर शाह ने बताया कि दो दिवसीय खेल वार्षिकोत्सव एलआर पटेल मैदान में आयोजित किया गया और इसमें बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले प्रतियोगियों को स्वर्ण, रजत व कांस्य पदक से पुरस्कृत किया जाएगा। खेल वार्षिकोत्सव के उद्घाटन मौके पर आयकर आयुक्त प्रमोदकुमार, ट्रस्ट के अध्यक्ष विनोद गोयल, उपाध्यक्ष सुभाष मितल, सचिव रमेश चौधरी, कोषाध्यक्ष ब्रजमोहन अग्रवाल समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned