ONLINE FRAUD : तुंरत 100 नम्बर डॉयल कर हाथों - हाथ वापस पा सकते हैं रुपए

- कोरोना काल में विशेष सतर्कता बरते
- 40 हजार की ऑन लाइन धोखाधड़ी में साइबर पुलिस ने 36 हजार रिफंड करवाए
- Get more alert for online froud in Corona period
- In online fraud of 40 000, surat cyber police got 36000 refunds

By: Dinesh M Trivedi

Updated: 02 Aug 2020, 10:59 AM IST


सूरत. कोरोना काल (CORONA) में देश भर में कई साइबर ठग गिरोह सक्रिय हैं जो नित नए तरिकों से लोगों को अपने जाल में फंसा कर उनकी मेहनत की कमाई पर हाथ साफ कर जाते है। ऐसे में सूरत साइबर क्राइम (CYBER CRIME POLICE) पुलिस ने लोगों को विशेष रूप से सतर्क रहने की अपील की है साथ ही किसी भी तरह का ऑन लाइन फ्रोड़ होने पर तुंरत 100 नम्बर (DIAL 100) पर पुलिस कंट्रोल रूम से संपर्क करने की हिदायत दी हैं ताकी लोगों को उनकी मेहनत की कमाई तुरंत रिफंड करवाई जा सके।

सूरत की साइबर क्राइम पुलिस के PSI DM RATHORE ने बताया कि कुछ दिन पूर्व पेटीएम केवाइसी करने के बहाने एक व्यक्ति के साथ धोखाधड़ी हुई थी। उसे फोन करने वाले ने केवाइसी के बहाने एप इंस्टॉल करवा कर उसका मोबाइल हेक कर लिया था। फिर उसके खाते से 40 हजार 174 रुपए अपने अपने ई वॉलेट में ट्रांसफर कर दिए थे।

पीडि़त को इस बारे में पता चलने पर उसने तुंरत पुलिस कंट्रोल रूम के 100 नम्बर पर संपर्क किया। कंट्रोल रूम से पीडि़त की समस्या को लेकर शिकायत मिलने पर उससे व्हॉट्सएप के जरिए शिकायत का फॉर्म भरवा कर जानकारी हासिल की गई। तुंरत पैमेंट गेट वे व ई वॉलेट कंपनी को ईमेल के जरिए सूचना देकर ट्रांजेक्शन फ्रिज करने के लिए कहा गया।

तुंरत कार्रवाई होने से पीडि़त के 36 हजार 285 रुपए बच गए और उसके बैंक खाते में रिफंड हो गए। हालांकि तब तक 3 हजार 889 रुपए शातिर ठग निकाल चुका था। साइबर क्राइम पुलिस के CHIRAG BHAI ने बताया कि साइबर ठगी (CYBER FRAUD) होने पर तुंरत 100 नम्बर पर सूचना दें और फिर संबंधित पुलिस थाने में शिकायत दे। साइबर ठग एटीएम ब्लॉक, केवाइसी, नौकरी, लॉटरी, ऑनलाइन शॉपिंग आदि कई तरिकों से आपकों को अपने जाल में फंसाने का प्रयास करते है। सतर्क रह कर आप इनसे बच सकते हैं।

Patrika
Show More
Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned