489 प्रकरणों का निराकरण कर 723 लोगों को दिया गया लाभ

489 प्रकरणों का निराकरण कर 723 लोगों को दिया गया लाभ

Nitin Sadaphal | Updated: 14 Jul 2019, 10:04:00 AM (IST) Tikamgarh, Tikamgarh, Madhya Pradesh, India

नेशनल लोक अदालत

टीकमगढ़. जिला न्यायालय के एडीआर सेंटर में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। इसके साथ ही कार्यक्रम में स्वास्थ्य परीक्षण एवं रक्तदान शिविर का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार श्रीवास्तव रहे। नेशनल लोक अदालत को संबोधित करते हुए अतिथियों ने कहा कि नेशनल लोक अदालत एक ऐसा मंच है। जिसमें किसी भी पक्षकार की हार नहीं होती है। आपसी सुलह एवं समझौते के आधार पर प्रकरण का निराकरण किया जाता है। निराकरण प्रकरण में कोर्ट फ ीस भी वापस हो जाती है। इसके साथ ही स्वास्थ्य शिविर के संबंध में आमजनों को रक्तदान प्रदाय करने के लिए प्रोत्साहित किया गया। जिला न्यायाधीश ने कहा कि स्वस्थ्य व्यक्ति को वर्ष में एक बार रक्तदान जरूरकरना चाहिए। जिससे रक्त की कमी की बजह से किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति को स्वास्थ्य की हानि न हो।
रक्तदान शिविर में न्यायाधीशों सहित न्यायालीन कर्मचारियों सहित अधिवक्तागण के साथ आमजनों ने बढ़-चढ़कर भाग लेकर रक्तदान किया। समारोह में प्रधान न्यायाधीश देवराज बोहरे, विशेष न्यायाधीश ललित किशोर, अपर जिला न्यायाधीश डीके मित्तल, सुनील कुमार, सचिन्द्र श्रीवास्तव, राजकुमार वर्मा, एलडी सोलंकी सीजेएम निर्मल मंडोरिया, न्यायिक मजिस्टे्रस्ट सुनीता गोयल,अमर सिंह सिसोदिया, हर्षिणी यादव, पकंज शर्मा, राधाकृष्ण यादव, तरूणेन्द्र सिंह, प्राची कौरव, तेजसिंह गौड़, राहुल सोनी, महेन्द्र सिंह, जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष रघुवीर सिंह तोमर, विधिक सहायता अधिकारी बृजेश पटेल, सहायक अभियोजन अधिकारीगण, विद्युत विभाग के अधीक्षण यंत्री विकास सिंह सहित बीएसएनएल, विभिन्न बैंकों के प्रबंधक मौजूद रहे।

9 न्यायिक खंडपीठों ने निपटाए प्रकरण
नेशनल लोक अदालत में प्रकरणों के निराकरण के लिए 9 न्यायिक खंडपीठों का गठन किया गया था। खंडपीठों में न्यायालयों में लंबित विद्युत के 43 प्रकरण, आपराधिक शमनीय प्रकरण 13, चैक बाउंस के प्रकरण 21, वैवाहिक प्रकरण 25 सहित अन्य 45 प्रकरणों सहित न्यायालयों में लंबित 178 प्रकरणों का निराकरण किया गया। जिनकी राशि 9343381 रुपए के अवार्ड पारित किए गए। इसके साथ ही नगर पालिका के जलकर, समपत्ति कर, बैंक वसूली के प्री-लिटिगेशन के 311 प्रकरणों का निराकरण किया गया। जिनमें 1603162 रुपए की वसूली की गई। इस प्रकार कुल 489 प्रकरणों का निराकरण किया गया। जिसमें 723 लोगों को लाभ दिया गया। इसके साथ ही न्यायमित्र के रूप में औषधी एवं फ लदार पौधों का वितरण किया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned