प्रेम प्रसंग में युवक का गला दबा की थी हत्या, २४ घंटे में किया खुलासा

सिमरा थाना क्षेत्र के बेर खिरक पर युवक की मौत हो गई थी। पुलिस ने अपनी मद्द के लिए एफएसएल अधिकारियों को प्रदीप यादव को बुलाया गया था

By: akhilesh lodhi

Published: 12 May 2021, 09:25 PM IST


टीकमगढ़/पृथ्वीपुर. सिमरा थाना क्षेत्र के बेर खिरक पर युवक की मौत हो गई थी। पुलिस ने अपनी मद्द के लिए एफएसएल अधिकारियों को प्रदीप यादव को बुलाया गया था। उन्होंने प्राथमिक जांच के बाद रिपोर्ट प्रयोगशाला भेजी थी। उसके बाद निवाड़ी एसपी अलोक कुमार सिंह द्वारा पुलिस की टीम गठित की गई। उसके बाद पुलिस टीम ने २४ घंटे में अंधे कत्ल का खुलासा किया गया है। जिसमें प्रेम प्रसंग का मामला बताया गया है। इस मामले में दो पुरूष और एक महिला को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया है।
पृथ्वीपुर सिमरा थाना क्षेत्र के बेर खिरक में अंधे कत्ल का खुलासा पुलिस ने २४ घंटे में कर दिया है। एसपी आलोक कुमार ंिसह ने बताया कि सिमरा थाने के बेर खिरक पर संतोष कुशवाहा का शव संदिग्ध अवस्था में घनश्याम चौरसिया के खेत पर पड़ा हुआ मिला था। सुबह जैसे ही 7 बजे पुलिस को सूचना मिली तो मौके पर पुलिस बल वहां पहुंचा। एफ एसएल प्रदीप यादव की टीम ने पहुंचकर बारीकी से साक्ष्य जुटाए। एसपी श्री सिंह ने बतया कि पूरे मामले को गंभीरता से लेते हए अंधे कत्ल का खुलासा करने के लिए एसडीओपी संतोष पटेल, थाना प्रभारी सिमरा शाहिद खान और थाना प्रभारी जेरोन सुरेंद्र सिंह के नेतृत्व में तीन टीमें गठित की गई। जिनके द्वारा निरंतर मेहनत कर अंधे कत्ल का खुलासा करने के लिए निर्देशित किया।
शराब पिलाकर दबाया दबाकर, फिर की हत्या
तीन सदस्यीय टीम ने मामले में पाया गया कि बेर खिरक निवासी मृतक संतोष कुशवाहा का ग्राम के सीताराम कुशवाहा की पत्नि सरोज कुशवाहा के पास आना जाना था। इसी आधार पर सीताराम कुशवाहा और उसका दोस्त महेंद्र उर्फ मास्टर कुशवाहा परसंदेह हुआ। जिनको कब्जे में लेकर पंछतांछ की गई। जिसमें इंहोने सरोज के माध्यम से उसे रात्रि 9 बजे घर से ईट भट्टे पर आने के लिए कहा। वहां उसे जमकर शराब पिलाई। उसके बाद गला दबाकर उसकी हत्या कर दी।


तीन लोगों को बनाया गया आरोपी
पुलिस ने मामले की जांच के बाद सरोज के मोबाइल को चैक किया। उसमें बाद डायाल किए गए नम्बरों की जांच की। डायल में मृतक का नम्बर पाया गया। उसी के दोवारा उसे बुलाया गया। पूछतांछ के दौरान तीन लोगोंं को उसके नम्बर की जांच की तो सरोज द्वारा उसे बुलाया गया था। जहां ईट के भट्टे पास तीनों आरोपियों ने मिलकर उसका गला दबाकर उसकी हत्या करने की बात कुबूली है। पुलिस ने मामले को 24 घंटे में ही खुलासा कर दिया है।
खुलासा के दौरान
थाना प्रभारी जेरोन सुरेंद्र सिंह, थाना प्रभारी सिमरा शाहिद खान,संतोष तिवारी आरक्षक सुनील दौहरे, हर्ष यादव, जितेंद्र सेंगर, मनीष पटेल, प्रमोद कुशवाहा, मीना राजा बुंदेला, कुमार, सानू मौजूद रहे।

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned