विधायक के पास एक ही रंग के दो वाहन डीआईजी ने किया निरीक्षण

विधायक के वाहन की हुई जांच,घटना में घायल की चल रहीं सांसे

By: vivek gupta

Published: 11 Oct 2019, 12:37 PM IST

टीकमगढ..पूर्व केन्द्रीय मंत्री उमा भारती के भतीजे और खरगापुर विधायक राहुल सिंह लोधी के हिट एंड रन मामले में मंगलवार को छतरपुर डीआईजी अनिल माहेश्वरी ने जांच की। डीआईजी ने बल्देवगढ़ थाने में रखे विधायक के वाहन के साथ ही दुर्घटनाग्रस्त बाइक की पडंताल करते हुए घटनास्थल पंहुचकर मौके का मुआयना किया। मामले में खास बात है कि घटना में घायल युवक की अभी सासें चल रही है,जिसका बयान महत्वपूर्ण हो सकता है।

सोमवार को घटना के बाद से ही विधायक समर्थको और अन्य के द्वारा लगातार तीनो युवको की मौत की खबर दी जा रही थी। जबकि गंभीर घायल मदन अहिरवार को झांसी मेडीकल कॉलेज के बाद ग्वालियर मेडीकल कॉलेज रिफर किया गया है। लोगो के जाम लगाने और कार्रवाई को लेकर प्रदर्शन करने के ६ घंटे बाद विधायक के द्वारा सामने आने और गाडी को पुलिस के पास भेजे जाने में भी पेंच नजर आ रहा है।

विधायक के पास एक ही रंग के दो वाहन होने के कारण वाहन बदले जाने के साथ घटना वाले वाहन के टायरो से छेडछाड किए जाने की बात भी सामने आ रही है। गौरतलब है कि सोमवार को बल्देवगढ़ थाना के पपावनी गांव के पास खरगापुर विधायक के एसयूवी वाहन ने बाईक को टक्कर मारी थी। जिसमें दो युवको की मौके पर ही मौत हो गई थी,जबकि एक गंभीर रूप से घायल हो गया था। मंगलवार को दोनो मृतको के शव पीएम के बाद परिजनो को सौंप दिए गए,जिनका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

डीआईजी ने की वाहन की जांच

खरगापुर विधायक के वाहन की टक्कर से दो युवको की मौत के मामले में मंगलवार को डीआईजी अनिल माहेश्वरी जांच करने पहुंचे। पुलिस थाने में रखे विधायक के एसयूवी वाहन एमपी ०४ सीक्यू ००१० की जांच करने के साथ बिना नंबर की बाईक को भी देखा। जांच करने के बाद डीआईजी ने पपावनी पंहुचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया।

दरअसल एफ आईआर के बाद खरगापुर विधायक राहुल सिंह द्वारा राजनैतिक साजिश के मुताबिक पुलिस कार्रवाई किए जाने का आरोप लगाया था। उन्होंने दुर्घटना के समय खुद को विधानसभा क्षेत्र के फु टेर गांव में आयोजित धाार्मिक कार्यक्रम में उपस्थित बताया था। जांच के बाद डीआईजी ने विधायक के आरोपों को सिरे से नकार दिया।

उन्होंने कहा कि पुलिस ने शिकायत के आधार पर विधायक के खिलाफ एफ आईआर दर्ज की है। डीआईजी ने कहा पुलिस पर कोई राजनैतिक दबाव नही है। नियम अनुसार जांच एवं कार्रवाई की जा रही है। मामलें को लेकर डीआईजी ने एसपी अनुराग सुजानिया से घटना के संबंध में चर्चा की।

यह था मामला.
बल्देवगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पपावनी के पास स्थित मंदिर के समीप तेज रफ्तार पजेरो वाहन ने तीन बाइक सवारों को जोरदार टक्कर मार दी थी। घटना में झिनगुवां निवासी रवि अहिरवार और उसके साले गजेंद्र अहिरवार की मौत हो गई थी। जबकि घटना में घायल मदन अहिरवार उम्र 35 वर्ष निवासी बरेठी को गंभीर हालत में झांसी रैफ र किया गया था।

जिसकी हालत में सुधार न होने पर ग्वालियर रिफर किया गया था। प्रत्यक्षदर्शियो ने विधायक राहुल सिंह के वाहन में सवार होने और घटना के बाद भागने को लेकर जाम लगाया था। पुलिस से शिकायत के बाद विधायक के खिलाफ 304,279, 337 और 184 मोटरयान अधिनियम के तहत एफ आईआर दर्ज की थी। घटना में घायल मदन को लेकर बल्देवगढ टीआई बृजेश कहार का कहना था कि घायल मदन के साथ पुलिस टीम है। घटना को लेकर घायल से बयान लिए गए है।


एक ही रंग के है दो वाहन
खरगापुर विधायक राहुल सिंह के द्वारा देर शम अपने वाहन चालक विजय को वाहन के साथ कोतवाली पुलिस के पास भेजने की बात कही गई थी। मंगलवार को ड्राईवर के साथ वाहन बल्देवगढ़ थाना पंहुच गया। मामले को लेकर कयास लगाए जा रहे है कि विधायक के पास एक ही रंग के दो वाहन है। पुराना वाहन भी नगर की सड़को पर देखा गया है। मृतक के परिजनो का आरोप है कि जो वाहन पुलिस को दिया गया है ,उसके टायरो के साथ छेडछाड की गई है।

हांलाकि पुलिस इस तरह की आशंका को नकार रही है। एसपी अनुराग सुजानिया का कहना था कि उनके पास भी इस रह की जानकारी आई थी। जिसकी जांच के लिए उन्होंने पुराने वाहन की फोटो और जांच कराई है। एसपी सुजानिया का कहना था कि मामले की बारीकी से जांच की जा रही है। नगर के मुख्य चौराहो के सीसीटीवी फु टेज देखे जा रहे है। वाहन के आने जाने की जांच की जा रही है।

vivek gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned