scriptBan on gravel transportation in Banas River: 16 lakh tonnes of gravel | बनास नदी में बजरी परिवहन पर रोक: 16 लाख टन बजरी मिली स्टॉक से अधिक, राज्य सरकार के आदेश पर प्रशासन ने रुकवाया परिवहन | Patrika News

बनास नदी में बजरी परिवहन पर रोक: 16 लाख टन बजरी मिली स्टॉक से अधिक, राज्य सरकार के आदेश पर प्रशासन ने रुकवाया परिवहन

locationटोंकPublished: Feb 01, 2024 08:46:29 pm

Submitted by:

jalaluddin khan

बनास नदी में बजरी के भंडारण से हो रहे परिवहन पर बुधवार को राज्य सरकार ने रोक लगा दी। ऐसे में बनास नदी में किए गए भंडारण से बजरी भरकर निकले वाहनों को वापस बुलाया और बजरी खाली कराई गई।

बनास नदी में बजरी परिवहन पर रोक: 16 लाख टन बजरी मिली स्टॉक से अधिक, राज्य सरकार के आदेश पर प्रशासन ने रुकवाया परिवहन
बनास नदी में बजरी परिवहन पर रोक: 16 लाख टन बजरी मिली स्टॉक से अधिक, राज्य सरकार के आदेश पर प्रशासन ने रुकवाया परिवहन
बनास नदी में बजरी परिवहन पर रोक: 16 लाख टन बजरी मिली स्टॉक से अधिक, राज्य सरकार के आदेश पर प्रशासन ने रुकवाया परिवहन
बनास नदी में बजरी के भंडारण से हो रहे परिवहन पर बुधवार को राज्य सरकार ने रोक लगा दी। ऐसे में बनास नदी में किए गए भंडारण से बजरी भरकर निकले वाहनों को वापस बुलाया और बजरी खाली कराई गई।
अब सरकार के अग्रिम आदेश तक बनास नदी से बजरी का परिवहन नहीं होगा। इसके आदेश राजस्थान राज्य खनिज अन्वेषण ट्रस्ट जयपुर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एन. पी. सिंह ने जारी किए हैं। जिला प्रशासन के मुताबिक खान एवं पेट्रोलियम के शासन सचिव की अध्यक्षता में गत 20 जनवरी को बैठक हुई थी।

इसमें टोंक तहसील के पालडा, सईदाबाद, प्रथमव द्वितीय मंडावर, पीपलू तहसील के डोडवाडी, मूंडिया में खनिज बजरी के स्टॉक (भण्डारण) का ड्रोन, डीजीपीएस सर्वे किया। ड्रोन, डीजीपीएस सर्वे तथा सहायक खनिज अभियंता टोंक के अभिलेख अनुसार खनिज बजरी का स्टॉक भण्डारण खनन किए गए खनिज बजरी से अधिक पाया।

जो अवैध खनन किया जाकर भण्डारण किया है। आदेश के बाद खनिज विभाग ने बुधवार को बजरी परिवहन के लिए जारी किए जाने वाले रवन्ना निरस्त कर दिया है।

इतनी बजरी का माना अंतर

सर्वे में कुल 16 लाख 18 हजार 724 टन बजरी का अंतर स्टॉक से अधिक पाया गया है। विभाग के अनुसार पालड़ा में 370113.09, डोडवाडी में 136019.34, मूंडिया द्वितीय में 177605.02, मूंडिया प्रथम में 149277.14, सईदाबाद में 336190.07 तथा मंडावर में 449519.36 का अंतर पाया गया। भंडारण की निगरानी के लिए सीसीटीवी के साथ ही उपखण्ड अधिकारी के नेतृत्व में कार्मिकों की तैनाती की गई है।

इनका कहना है

आदेश के मुताबिक बजरी का परिवहन रोक दिया गया है। भंडारण की सीसीटीवी से निगरानी की जाएगी। साथ ही कर्मचारियों को नियुक्त किया है। आगामी आदेश का इंतजार है।
- डॉ. सोम्या झा, जिला कलक्टर टोंक

ट्रेंडिंग वीडियो