scriptHospitals got equipment worth 58 lakhs | अस्पतालों को 58 लाख के उपकरण मिले | Patrika News

अस्पतालों को 58 लाख के उपकरण मिले

राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर विधायक कोष से स्वीकृत 58 लाख लागत के विभिन्न उपकरण चिकित्सा विभाग खरीद केन्द्रों पर पहुंचा दिया है।

टोंक

Published: December 07, 2021 05:27:43 pm

लाम्बाहरिसिंह. विधायक कन्हैया लाल चौधरी ने उपखण्ड के ग्रामीण क्षेत्र की सभी राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर विधायक कोष से स्वीकृत 58 लाख लागत के विभिन्न उपकरण चिकित्सा विभाग खरीद केन्द्रों पर पहुंचा दिया है। ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी संजीव चौधरी ने बताया कि कोरोना की दुसरी लहर के समय उपखण्ड क्षेत्र के पंचायत मुख्यालयों पर संचालित सभी राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर चिकित्सा उपकरण का अभाव था। विधायक ने स्वास्थ्य केन्द्रों का दौरा कर केन्द्र प्रभारियों की मांग पर विधायक अभिशंसा पर करीब 58 लाख लागत के चिकित्सा उपकरण की खरीद केन्द्रों पर पहुंचा दिया गया हैं।
अस्पतालों को 58 लाख के उपकरण मिले
अस्पतालों को 58 लाख के उपकरण मिले
यह मिले उपकरण
ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र लाम्बाहरिसिंह, पचेवर, टोरडी, चांदसेन कलमण्डा, सोडा, लावा, नगर समेत सीएचसी डिग्गी में बेड साइड लोकर, सेक्शन मशीन इलैक्ट्रॉनिक, नेबूलाइजर, मास्क सहित बीपी उपकरण, थ्री सीटर स्टील चेयर ,दस केवी जरनेटर, स्ट्रेचर व्हील चेयर, रेडियंट बेबी वार्मर ,पल्स ऑक्सीमीटर टेबल टोप, ड्रेसिंग ट्रॅाली, वाशिंग मशीन,प चास लीटर आरओ मशीन इसके साथ लाम्बाहरिसिंह, पचेवर, टोरडी में सह समेत सीएचसी डिग्गी में सीबीसी मशीन व कॉर्डिक मॉनीटर व ब्लॉक कार्यालय पर इनवेटर बैट्रियां खरीद प्रभारियों को सौंप दिया है।
लैब टैक्नीशियन का पद रिक्त
लाम्बाहरिसिंह व टोरडी पीएचसी पर लैब टैक्नीशियन पद रिक्त है। इससे रागियों को जांच योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। इधर कस्बे में पीएचसी प्रभारी कमलेश माली ने बताया कि लैब टैक्नीशियन पद रिक्त होने के कारण व्यवस्थार्थ मेलनर्स द्वारा शुगर, एचबी, यूपीटी व सीबीसी रोगियों की जांच करवाया जा रहा है।
आयुर्वेद कम्पाउण्डर के पद सृजित करने की मांग
टोंक. आयुर्वेद नर्सेज विभागीय महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष रमेश दाधीच बावडी ने आयुर्वेद मंत्री को पत्र भेजकर जिला बोर्ड द्वारा खोले गए चिकित्सालयों में कम्पाउण्डर का पद सृजित किए जाने की मांग की है। दाधीच ने बताया कि प्रदेश में जिला बोर्ड द्वारा खोले गए आयुर्वेद चिकित्सालयों में चिकित्सक व परिचारक का पद सृजित कर नियुक्तियां की गई थी, लेकिन उस वक्त आयुर्वेद कम्पाउण्डर का पद सृजित नहीं किया गया था। ऐसे में बिना कम्पाउण्डर संचालित हो रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेअब एसएसबी के 'ट्रैकर डॉग्स जुटे दरिंदों की तलाश में !सूर्य ने किया मकर राशि में प्रवेश, संक्रांति का विशेष पुण्यकाल आजParliament Budget session: 31 जनवरी से शुरू होगा संसद का बजट सत्र, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाCDS बिपिन रावत के हेलीकॉप्टर हादसे की वजह आई सामने, वायुसेना ने दी जानकारीकोविड पॉजिटिव गर्भवती महिला के पेट में कोरोना से अधिक सुरक्षित है शिशु, जानिए कैसे महामारी के दौर में सुरक्षित रखें मां और बच्चे कोबेरोजगारी के संकट से जूझ रहा मप्र, ओबीसी की स्थिति चिंताजनक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.